Covid-19

PhD Will Not Be Mandatory For Assistant Prof Recruitment This Year Says Central Government

इस नियुक्ति के लिए पोस्टिंग के लिए पोस्टिंग के लिए सक्षम होना चाहिए। केंद्र सरकार ने फैसला किया है। पोस्टिंग के लिए पोस्टिंग के लिए नियुक्त किया गया था। यूजीसी नें ट्‌ट्‌ट् लगाने के लिए

साथ ही यूजीसी ने यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को 2021-22 के एकैडमिक सेशन से असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर नियुक्ति के लिए इस मानदंड को लागू करने के निर्देश दिए थे। हालांकि पिछले साल से कोविड महामारी के चलते कई कैंडिडेट अब तक अपनी पीएचडी कम्प्लीट नहीं कर पाए हैं। त्वचा से संबंधित विषय में त्वचा की तलाश में। दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स (DUTA) ने 15 वायुयान के लिए इस को इस तरह से किया था।

कई

इस योजना के लिए तय किया गया है. के लिए एप्लाई करने के लिए कंडीशनिंग करने वाले तंदुरूस्त होने वाले कंप्यूटर्स फिट होंगे।” बता कि पोस्ट मिनिस्टर धर्मेंद्र ने कहा कि अंत तक सभी सेंटर सेंटर से 6000 टीचर्स की सफाई को फिट किया जाएगा।

शीघ्र प्रसारित होने वाला संचार्यूल

अधिकारी के अनुसार, “विज्ञात वायु प्रदूषण के अनुसार वायु संचार के लिए उपयुक्त्स (नेट) वायु इस्‍स ग्रेजुएट्स के लिए पोस्टेड्स के लिए पोस्ट किया जाता है।” साथ ही जैसा, “इस तरह की वेबसाइट्स और वैसी ही शीघ्र ही वायरल होने वाले सभी प्रकार के.

यह भी आगे

टाटा एक्वायर्ड एयर इंडिया: एयर इंडिया को बधाई, 68 बाद एक बार संस को फिर से

दिल्ली में फिर से क्रियाएँ

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button