Panchaang Puraan

Phalguna Purnima 2022 know about holika dahan – Astrology in Hindi – Phalguna Purnima 2022: इस दिन है फाल्गुन पूर्णिमा, जानें

फाल्गुन पूर्णिमा 2022: फाल्गुन या फाल्गुन हिंदू कैलेंडर के अंतिम औसत है। फाल्गुन या फाल्गुन पूर्णिमा का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है।

पूर्णिमा – 17 मार्च 2022 सुबह 01:30 बजे

पूर्णिमा का अंत – 18 मार्च 2022 दोपहर 12:47 बजे

फ़ाल्गुन की महत्ता बढ़ रही है। पूर्णिमा व्रत हर महने मनाया जागता है और भिगान की अलग-अलग तरीकों से पूजा की जाती है, लेकिन फ़ाल्गुण पूर्णिमा का व्रतता नाता जा सका है। इस दिन होलिका चूल्हा भी लगाया गया।

फाल्गुन पौर्णिम के दिन, विष्णु ने भक्त प्रह्लाद की रक्षा की और हिरण्यकश्यप की बहिन को जलालिका को जलकर कर दिया।

क्रिसमस के त्योहारों में होली की शुरुआत

जानें- पूजा विधि

फाल्गुन पूर्णिमा के व्रत में नारायण की पूजा का विधान है। सबसे पहले पवित्र करें। सफेद️ सफेद️ सफेद️ सफेद️ सफेद️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ चुकोर वेदी पर आग जलाने के लिए। तेल, घाव, बूरा आदि।

फाल्गुन व्रत का महत्व

इस भगवान विष्णु का व्रत करना चाहिए। सुप्रभात विष्णु का ध्यान रखना चाहिए। इस दिन व्रत द्वारा होलिका की पूजा-अर्चना की जाती है। होलिका चूल्हा पर गो के गो से गुलरिया बनाने वाली होलिका, रौली, गूड, अनाज, गुझियों और गुझियों में। होलिका की तारीख़ है। ललिका के बाद भी डबलाॅप किया जाता है।

Related Articles

Back to top button