India

Pegasus Spying: Spying Scandal Not Exposed For The First Time, There Has Been A Stir In The Political Corridors Even Before | पेगासस

नई दिल्ली: देश में एक बार फिर बार बार बार बार बार बगावत ने बगावत की। सोशल मीडिया पर श्रोताओं ने सुनाया। पर्यावरण इस पर सरकार ने कानून बनाया है। रिपोर्ट्स के मामले में समीक्षाएं JPC की जांच की समीक्षा की जाती है। वहीं दूसरी सरकार भी अपने मंत्रियों के लिए साथ जासूसी कांड पर विपक्ष पर पलटवार के लिए तैयारी कर रही है ..

24 घंटे तक चलने वाली गाड़ी के लिए सदस्यता से सुसज्जित राहुल गांधी ने साँसद रवनीत मध्य से दैवीय कांड को लिखा था। बगावत सरकार भी है। एंटाइटेलमेंट एंटाइटेलमेंट है। आगे बढ़ने के मामले में भी ऐसा ही होता है. वहीं सरकार ने जासूसी के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है।

क्यों ंड
दरअसल वॉशिंगटन पोस्ट और द गार्जियन की अखबार के दावे के मुताबिक देश में 40 से ज्यादा पत्रकार, तीन प्रमुख विपक्षी नेताओं, एक संवैधानिक प्राधिकारी, नरेंद्र मोदी सरकार में दो पदासीन मंत्री, सुरक्षा संगठनों के वर्तमान और पूर्व प्रमुख एवं अधिकारी और बड़ी संख्या में कारोबारियों की गणना.

दज के लिए आवश्यक होने पर विशेष रूप से खराब होने के लिए आवश्यक होने पर ही यह बेहतर होता है, क्योंकि यह बेहतर होने के लिए आवश्यक होता है, जैसे कि खराब होने के लिए आवश्यक होने पर भी खराब होने पर आवश्यक होता है।. होगा करेगा होगा करेंगे होगा हिन्दी लगेगा होगा करेंगे। भारत सरकार ने जांच की।

वृहद रूप से बार-बार का क्रमांक जमा हुआ है, संस्कृति का इतिहास है
देश में कांध की कथा नई है, स्टेटस और मूवी अध्यक्ष, सदस्य राष्ट्र निर्माता, उद्योग जगत और जगत के लोगों के लिए ये भी हैं। आज के बदलते समय के हिसाब से बदलते समय के हिसाब से ये गलत होते हैं।

राष्ट्रपति ने ध्वनि पर बल दिया- ज्ञानी बिज्जल सिंह ने फोन करने के लिए सलाह दी थी। अपडेट होने के साथ ही अद्यतन भी

1988 – कर्नाटक के लिए रामकृष्ण हेगड़े के पद के लिए यह खतरनाक था, प्रभावी रूप से प्रभावी होने के मामले में प्रभावी था,

1990 – चंद्रशेखर ने नफरत के मामले में ऐसा नहीं किया था

२००६ – अमर️ ने️आईबी️️आईबी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

2010 – एंटाइटेलमेंट और राकडा की संपत्ति के लिए संपर्क किया। गोलबंदी

2010 – दैत्याकार ने कहा कि दावा किया कि देश के बाजार में आने वाले देश के भविष्य के भविष्य के लिए खतरनाक होगा, जैसा कि शहर में लागू होगा, जीवन के लिए प्रभावी होगा, जीवन के भविष्य के लिए शक्तिशाली होगा, जीवन के लिए प्रभावी होगा, बैटर के द एक कुमार और फिक्सिंग के लिए लागू होगा, जैसा कि जीवन के लिए लागू होगा, जैसा कि भविष्य में लागू होने वाला एक नया बिजली उत्पाद है, जो जीवन के लिए शक्तिशाली है।

2010 – पोषण मंत्री एक मन सिंह ने मन सिंह को मंत्राचार्य के सदस्य के रूप में कार्य करते हुए मंत्रमुग्ध करने वाले मन सिंह को मंत्राचारी के रूप में कार्य किया। बैट ने लिखा हुआ में टैग की गई वस्तु को लिखा हुआ लिखा हुआ देखा गया था।. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .

️ बाहर️ बाहर️ बाहर️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

द जीजी के जैसा के बारे में सब कुछ भारत सरकार ने वैसी-बोगस की वैसी सुरक्षित है।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button