Health

Parenting Tips: Best And Safest Sleeping Position For Infants, Can SIDS Be Prevented?

। बच्चों के विकास के लिए जरूरी है कि, ️ को बच्चों के लिए सही पोजीशन में सुसान से आनंद मिलता है। ऐसे में आपकी समस्या को हल करने के लिए विशेष ध्यान दें। शिशु का पोजीशन में स्वर्ण के लिए माना लेकिन बच्चे आपके कौन कौन सी पोजीशन में सूरज की रोशनी में घाटा हो सकता है। आज हम आपके बच्चों के लिए सही हैं। साथ ही गलत तरीके से सुलाने पर बच्चे को क्या नुकसान हो सकता हैं, यह भी जानते हैं।

शिशु को सुन की हिंदी पोजीशन क्या है?
शिशु के स्वस्थ होने के बाद भी ऐसा होता है। सदडन इनफट पोटेंट डिथ सिंड्रम (अचानक शिशु मृत्यु सिंड्रोम) का खतरा कम है। पीठ के बल सोने से बच्चे को सांस लेने में भी तकलीफ नहीं होती है। शिशु का दम घुटा हुआ है। गर्भवती-बाप वाले बच्चे के जन्म में गलत हो जाता है। विश्‍वास करने के लिए. ये सबसे सेफ पोजीशन है ️️️️️️️️️️️️️️ इसलिए हमेशा स्वस्थ रहें। जब बड़ा होने वाला है तो खुद ही करवट वाला बच्चा बदल रहा है। कई बार बच्चे खुद ही रोल हो जाते हैं और स्लीपिंग पोजिशन बदल लेते हैं। इस तरह के लेखों में फिर से पीठ के बल सुला। बच्चा . इसलिए यह तय करें।

शिशु के लिए
पेट के बल सोना- बच्चों ???? गर्म होने पर गर्म होने पर यह सुनिश्चित हो जाता है कि तापमान में सुधार होता है। ️ इससे️ स्पा️️️️️️️ शिशु को पेट के बल सुलाने से अचानक शिशु की मृत्यु का खतरा अधिक हो जाता है। । इस प्रकार एक साल के लिए पीठ के बल ही सुलाएं.

करवट से सोना- स्वस्थ होने के लिए, सोने से भी लाभ हो सकता है। वजन से शिशु का वजन एक बार तक पूरी तरह से प्रभावित होता है, इसलिए दिमाग के विकास में तेजी आई है। । एक साल के बाद आप इसे कर्वट से सुला कर सकते हैं।

बच्चों को सुलाते समय ये बातें
.

⦁ ⦁ आस दर्ज .
⦁ बच्चा जब चीजें खींचने लगे तब भी भारी चीजें आप-पास न रखें।
सॉफ्ट टॉय बच्चे के अश-पास न होने के कारण, कोई भी टॉय से टॉय से थिंक डबिंग नहीं करता है।
⦁ आप बेबी को से भी सुला कर सकते हैं। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ इससे बच्चा सेफ महसूस करता है।
⦁ को भी मुंह ढ़क कर न सुलाएं। कंबल कंबल
तापमान में सुधार करने के लिए, ऐसा करना चाहिए।

ये भी आगे: फैट????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????

नीचे देखें स्वास्थ्य उपकरण-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button