Panchaang Puraan

Papmochani Ekadashi 2022 Today: These two auspicious yogas are being made on Papmochini Ekadashi know importance – Astrology in Hindi

हिंदू धर्म में एक तिथि तिथि हुई है। एकादशी तारीख विष्णु को… हिंदू पंचांग के अनुसार, चैत्र मास के कृष्ण की एकशी को पापमोचिनी एकादशी है। साल पापमोचिनी एकादशी 28 मार्च, मंगल को है। विशेष बात यह है कि पापमोचिनी एकादशी के स्थिति से ठीक होता है।

तारीख़ तारीख एकादश तिथि-

हिंदू पंचांग के हिसाब से, 28 अक्टूबर 2022 को शाम 04 बजकर 15 तक एकादशी तिथि समाप्त हो जाएगी। अंतिम तिथि तिथि प्रारंभ हो चुकी है।.

संबंधित खबरें

राशिफल 28 मार्च: मिथुन राशि वालों के लिए राशिफल, राशिफल पर लागू होने वाली दवाब

पापमोचिनी एकादशी पर बनवाएं ये दो शुभ योग-

पापमोचिनी एकादशी पर सर्वसिद्ध योग का निर्माण हो रहा है। सिद्धि योग 05 बजकर 40 से लेकर पूरे समय तक। बाद में साध्य योग लगा।

सिद्धि व साध्य योग का महत्व-

सर्वार्थ सिद्ध योग योग योगफल। . सवार ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, किसी से भी विद्या या कोई भी विद्या हो तो साध्य योग अति उत्तम है। इस योग के प्रभाव से हर प्रकार का सुख प्राप्त होता है।

आज के शुभ मुहूर्त-

ब्रह्म मुहूर्त- 04:43 ए एम से 05:29 ए एम
अभिजित मुहूर्त- 12:02 पी एम से 12:51 पी एम
विजय मुहूर्त- 02:30 पी एम से 03:19 पी एम
गोधूलि मुहूर्त-06:24 पी एम से 06:48 पी एम।
अमृत ​​काल- 01:29 ए एम, मार्च 29 से 03:01 ए एम।
सर्वार्थ सिद्धि योग-06:16 ए एम से 12:24 पी एम

Related Articles

Back to top button