Breaking News

panchayat ordered teacher to marry with his class 10th girl student due to illegal relationship

। बच का फैसला सुनाना।

बेटी की उम्र की नालिका से शिक्षक को फरमान पंचों ने सुनाया। यह भी पता लगाना है कि यह सेटिंग करना और भी एक जुर्म करना है। बेटी की संतान की चचार् और गांव में नाम रखने वाले परिवार ने परिवार के नाम पर शिक्षकों का चयन किया है।

वे किस प्रकार के प्रबंधक के अनुसार नियमित होते थे। पिपरैच थाना क्षेत्र के एक गांव में स्थिति है। मदरसे में गांव का स्टाफ़ तौर मदरसे में गांव की एक लड़की दसवीं कक्षा में परीक्षा कर रहे थे। पहले से शादीशुदा व दो बच्चों के पिता शिक्षक ने छात्रा को अपने जाल में फंसा लिया। इंटरनेट से चलने वाले की बराबरी वाले खिलाड़ी बराबर होते हैं। जब तक पूरे गांव में न हों तब तक इस स्थिति में एक पंचायती नहीं होगी।

पिपराईच थाना क्षेत्र के अस्थाई पुलिस वाले पिकेट से चंद चरण की दूरी पर थे एब्स के लोग की पंचायती थे। पंचायत में पंचों ने बच्चों के बच्चों का फरमान सुनाया। शिक्षक के पिता ने बचाव किया। होने बल्कि जब वह अपनी संपत्ति को खराब करेगा तो उसे मालिक की संपत्ति होगी। शिक्षक तैयार हो गया और नाबालिग छात्रा से निकाह करने की बात तय होने पर पंचायत खत्म हुई।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button