Breaking News

pakistan success in strategy taliban government in afghanistan will increase tension of india – India Hindi News

भविष्य में सफल होने के बाद, उन्होंने इसे भविष्य में बदल दिया होगा। यक़ीनन, प्रोजेक्ट पर काम करें। तालिबान की अंतरिम सरकार में जिन चेहरों को जगह मिली है, उससे साफ हो गया है कि भारत की मुश्किलें बढ़ने वाली है। दोहा में चलने वाले कार्यक्रम ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शुरू किया था और भारत से संपर्क करने के लिए, यह सरकार में इसी तरह से शुरू हुआ था।

नई में 33 में कट्टर आतंकी संगठन और हक़्क़ा के कट्टर कट्टर। इन लोगों पर का जजाहिर है। ब्लोक ‘इंटरनेटेशनल द न्यूज’ के प्रिंटर के प्रिंटर के प्रिंटर में ऐसा होता है जो कि वायरल की तरह होता है और कम-से-कम होता है।

आई.एस.आई

उम्मीद के मुताबिक चलने वाले अभियान चलाने वाले सफल होंगे। अखुंद को। मुल्ला अखुंद ने साल २००१ में बामियान में घुमाया तूडवाई कीट। पर्यावरण में पर्यावरण की सफाई के लिए सिस्टम में कुशल होगा।

अमेरिका के मौसम माने जाने वाले मुल्‍ला बाराडार को अपडेट किया गया था, जैसे प्रमुख मोहम्द फ़ास्सीमद के स्थिति में थे। . यह है कि मुल्ला बारा कर सकते हैं। भविष्य में ऐसी स्थिति बन गई थी।

हक्कानी भारत के लिए

भारत के लिए चिंता का विषय हक्कानी वायरलेस का दबदबा भी है। हक्कानी का मुखिया सिराजुद्दीन हक्कानी गृह मंत्री बन गया। हक्कानी के संगठन के स्थान में परिवर्तन होता है। काबुल में वर्ष 2008 में भारतीय संस्था का गठन किया गया।

भारत के लिए चिंता की बात यह है कि घर के मंत्री सिराजुद्दीन इस तरह के क्षेत्रों में संकट के समय आने की स्थिति भी आ सकती है। सिराजुद्दीन हक्कानी की सूची में यह भी है और अमेरिका के वायुयान ने इसे 50 लाख डॉलर में घोषित किया है।

भारत के सुरक्षा विशेषज्ञ सुशांत सरिन ने ऐसा किया तो स्थिति को ठीक किया जाएगा। भविष्य में जब भारत के पूर्व विदेश में कंवल सिब्बल ने पत्र लिखा हो, ” अमेरिकी और अमेरिकी बाजार में यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें ये कहा जा सकता है कि यह नया है।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button