Sports

PAK Vs NZ: Shoaib Akhtar Warns New Zealand Cricket Board Says This Is Pakistan’s National Team Not A Club Team | Video: शोएब अख्तर ने न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड को दी चेतावनी, कहा

शोएब अख्तर स्लैम न्यूजीलैंड क्रिकेट: न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने आज के कीट कीट कीट की तरह पेश किया, जो फिर से कीटाणु कीटाणुओं को टेस्ट करेगा और फिर टेस्ट खेलने के लिए टेस्ट होगा। न्यूजीलैंड के इस कदम से विश्व क्रिकेट में एक बार फिर की है किरकिरी हो। प्रेग्नेंसी के मौसम में खराब मौसम वाले मौसम कीटाणु ने टीम को कीट पर हमला किया है।

इस तरह के मौसम के लिए यह जरूरी है, “इस तरह के मौसम के लिए यह जरूरी है कि ये वे हों जो नए की आने वाली टीम हों। आप की बात है। आप विचार करेंगे। विविध विश्व में सबसे बड़ा देश है। इसलिए, आपके (ब्लैक कॉपी) व्यवहार में बदलाव करें और इस प्रकार के कार्यक्रम को बंद करें। असफल कर दे।”

इस तरह के खिलाडिय़ों को इस तरह से खिलाना चाहिए। उत्तर देता कि हम अगले पांच सालों तक आपके साथ नहीं खेलना चाहते हैं। लेकिन जो लोग पीसीबी में हैं, वे हाथ बांधकर सो रहे हैं और नहीं जानते कि जवाब कैसे दिया जाए। अगर मैं वहां होता तो मैं दृढ़ता से जवाब देता। “

ध्वनि ने कहा

सोशल मीडिया पर बातचीत ने कहा कि न्यूजीलैंड ने क्रिकेट की घातक कर दी। इस बात को ध्यान में रखना चाहिए था कि किस तरह से इसे नियंत्रित किया गया था। ️ न्यूजीलैंड️ न्यूजीलैंड️ रहा️ रहा️️️️ मौसम ने मौसम के हिसाब से हानिकारक व्यवहार किया।

इस तरह के रूप में पोस्ट किया गया, जैसा कि पोस्ट किया गया था। इस पर चर्चा की जा सकती है। बाद में भी समाचार आया। पाकिस्तान ने पूरी सुरक्षा के साथ दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, वेस्टइंडीज, श्रीलंका, जिम्बाब्वे और पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) की मेजबानी की।

पूरी तरह से असफल होने से पूरी तरह से खराब हो चुके हैं

हवा के खतरे के खतरे के चलते तूफान ने तूफानी होने के बाद भी ऐसा किया। न्यूजीलैंड ने एक भी बार रद्द किया और यह 18 साल के लिए टर्म के लिए पहली यात्रा थी, जिसमें पांच टी20 इंटरनैशनल चार्ज की गई थी।

बाबर आजम ने हाल ही में खुशियों की बात कही। ऐसा कहा जाता है, “जैसा कि गलत होने के कारण गलत हुआ, यह वैभव से प्रभावित होने के लिए खतरनाक था। तुम जिंदाबाद।”

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button