Panchaang Puraan

On the day of Makar Sankranti Shani Dev is pleased by donating this thing sorrows and pains go away – Astrology in Hindi

मकर संक्रांति का त्योहार इस साल 14 और 15 को मौसम खराब होगा। दिन सूर्य देव धनु राशि इस मकर राशि में गोचर हैं। इस प्रकार मकर संक्रांति कहा जाता है। क्रिया के प्रकार, मकर संक्रांति के दिन सूर्य अपने फोन से अलग होते हैं। इस त्योहार के साथ शुभ कार्य प्रारंभ हो रहा है। मकर संक्रांति के दिन दिवस का विशेष महत्व है। राक्षस संक्रांति के देवता राक्षस पदार्थ सूची-

मकर संक्रांति का महत्व-

मकर संक्रांति के दिन काम शुरू हो जाएगा। देशभर के ये हिज़स्के में शामिल करें खिचड़ी को नहीं उत्पुन्ययन के नाम से। इस भोजन में खिचड़ी है। मकर संक्रांति के सूर्य सूर्य से प्रारंभ होते हैं। शनिदेव राशि के स्वामी हैं।

मकर संक्रांति के दिन झूठा भी न करें ये काम, सूर्यदेव हो सकता है नाराज

मकर संक्रांति की पूजा सामग्री-

मकर संक्रांति के पवित्र दिन को शुभ फलदायक माना जाता है। पानी में जल स्नान करते हैं। स्नान के बाद संक्रांति के दिन खराब होने के बाद, काला तिल, लड्डू, खिचड़ी से पूरब के बाद किया जाता है।

इन दिनों में प्रसन्नता होगी शनिदेव-

मकर संक्रांति को तिल संक्रांति के नाम से भी मरे हैं। ️ दिन️ दिन️️️️️️️️️️️️️️️️️ यह खुश करने वाला है. इस दिन अन्न, वस्त्र, चावल, डंडल, नमक और खिचड़ी का दाना डालें। मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव की पूजा करने के बाद शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

.

Related Articles

Back to top button