States

On 3 October 1994, There Was Goli Kand In Dehradun 2 Agitators Were Martyred Ann

देहरादून की घटना २ १९९४ में रामपुर तिराहा गोंड (रामपुर तिराहा हादसा) घटना से प्रभावित होने की स्थिति थी ३ दिन १९९४ को देहरादून (देहरादून) में ऐतिहासिक घटना हुई। लेकिन, निहत्‍वीय कर्मचारी पुलिस अधिकारी (पुलिस) ने चलने वाला 2 चेयव किया था। दैत्य में आज के दिन व्यास (राजेश रावत) और दीपक वालिया (दीपक वालिया) एलियाया से शाहिद। चालक में 2 कार्यकर्ता मुजफ्फरनगर (मुजफ्फरनगर) में गोयाकांड के रामपुर थाने में थे, जब बाद में पुलिस वाले थे तो पुलिस वाले थे।

निम्नलिखित का पालन करें
3 को मुजफ्फरनगर में भी बंद कर दिया गया। हों 🙏🙏🙏🙏🙏🙏 हेयरई नेंने कनेक्शन के बाद भी सूरज की रोशनी में… ये हिट होने के बाद वार करने वाले पर वार करते हैं। ट्विट के डायरेक्शन वाले जोगीवाला में भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

विशेष रूप से दिशा निर्देशन करने वाले निर्देशक रावत की माँ
प्रेसीडेंसी रावत की मां आज के दिनों में शाहिद भावुक हो उठती हैं। आनंदी रावत आज भी गोविंदा के बीच में हैं। राज्य सरकार चाली प्रदीप कुकी ने कहा। लगातार सुननी आवाज बुलंद करने के लिए कभी भी आवाज नहीं उठाई।

ये भी आगे:

मनीष गुप्ता की मौत का मामला: एसआईटी की टीम गोरखपुर में गुप्त रूप से एकीकृत किया गया

ममता बनर्जी पर अखिलेश यादव:

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button