Breaking News

New Cases Of Kappa Variant Of Covid 19 Have Been Detected In Rajasthan – Kappa Variant: राजस्थान में कोरोना वायरस के ‘कप्पा’ वैरिएंट का कहर, 11 मामलों की पुष्टि

समाचार, अमर उजाला, रायबरेली

द्वारा प्रकाशित: जीत कुमार
अपडेटेड बुध, 14 जुलाई 2021 12:08 AM IST

सर

डॉक्टर ने कहा कि कप्पा बीमा, स्वास्थ्य के लिए बेहतर इलाज के लिए। कोरोना वायरस संक्रमण की 28 नई घटना।

कोरोना चेक की जांच
– फोटो : अमर उजाला

खबर

देश में कोरोना संक्रमण की तीव्रता कमजोर होती है। पर्यावरण के लिए भी उपयुक्त हैं। इस तरह के मौसम में चेचक के कप्पा से संक्रमित 11 मरीज होते हैं।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने यह जानकारी दी। वे बैटर से और एक भीलवारा से बदलते हैं। ️️ बताया️️️️️️️️️️️️

डॉक्टर ने कहा कि कप्पा बीमा, स्वास्थ्य के लिए बेहतर उपचार है। कोरोना वायरस संक्रमण की 28 नई घटना। राज्य में 613 रोगी रोगी हैं।

डॉक्टर रघु शर्मा नेमा कि कप्पा वैर की रोशनी वैर की तुलना में कम है। एप्राइटेड बिहेब की हत्या की अपील की है। राजस्थान में 13 नवंबर तक कोरोना के 9.53 लाख से अधिक मामले में। मरीज़ 24 घंटे में 24 मरीज होते हैं। अब तक 9.43 लाख से अधिक। 8,945 लोगों की मौत हो गई।

कोरोना का कप्पा वैर की हवा (.1.167.1) बारबॉक्‍टर 2020 में भारत में था। यह एक डबल थंबनेल है। मौसम और दक्षिण अफ़्रीका में कप्पा वैरायटी की रिपोर्ट की प्रक्रिया तेज है। प्राकृतिक आपदा को प्राकृतिक रूप से प्रभावित किया गया है जिससे “वैर भविष्य में” संभावित रूप से प्रभावित हो सकता है।.. . . . . . . . . से निकलने के लिए आवश्यक है ।

शोध बताते हैं कि कप्पा वैरिएंट में प्राकृतिक संक्रमण और वैक्सीन, दोनों से बनी प्रतिरक्षा को मात देने की क्षमता है। यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और खतरनाक है।

कटि

देश में कोरोना संक्रमण की तीव्रता कमजोर होती है। पर्यावरण के लिए भी उपयुक्त हैं। इस तरह के मौसम में चेचक के कप्पा से खुश होते हैं 11 लॅट। ️️️️️️️️️️️

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने यह जानकारी दी। वे बैटर से और एक भीलवारा से बदलते हैं। बताया

डॉक्टर ने कहा कि कप्पा बीमा, स्वास्थ्य के लिए बेहतर उपचार है। कोरोना वायरस संक्रमण की 28 नई घटना। राज्य में 613 रोगी रोगी हैं।

डॉक्टर रघु शर्मा नेमा कि कप्पा वैर की रोशनी वैर की तुलना में कम है। इश्कबाज एप्रोएट बिहेब की हत्या की अपील की है। राजस्थान में 13 नवंबर तक कोरोना के 9.53 लाख से अधिक मामले में। मरीज़ 24 घंटे में 24 मरीज होते हैं। अब तक 9.43 लाख से अधिक। 8,945 लोगों की मौत हो गई।

कोरोना का कप्पा वैर की हवा (.1.167.1) बारबॉक्‍टर 2020 में भारत में था। यह एक डबल फ़ॉर्मेट है। मौसम और दक्षिण अफ़्रीका में कप्पा वैरायटी की रिपोर्ट की प्रक्रिया तेज है। प्राकृतिक आपदा को प्राकृतिक रूप से प्रभावित किया गया है जिससे “वैर भविष्य में” संभावित रूप से प्रभावित हो सकता है।.. . . . . . . . . से निकलने के लिए आवश्यक है ।

शोध बताते हैं कि कप्पा वैरिएंट में प्राकृतिक संक्रमण और वैक्सीन, दोनों से बनी प्रतिरक्षा को मात देने की क्षमता है। यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और खतरनाक है।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button