Sports

Neeraj Chopra on Paralympics: 'गोल्डन बॉय' नीरज ने टोक्यो पैरालंपिक में शामिल सभी एथलीटों को दी बधाई, कही ये बड़ी बात

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> टोक्यो पैरालिम्पिक्स 2020:  नीरज ने पोस्ट किए गए वीडियो पोस्ट किए गए थे। साथ ही नीरज ने अन्य लोगों में भी कल F-64 इवेंट में जाने के लिए सुमित अंत को बधाई दी है। जयवल्‍त ‍वैट की एफ46 ‍वैल्‍य ‍विधानसभा और बक्‍ज वानर गुणवान देवेंद्र झारिया और सुंदर सिंह गुर्जर को भी बधाई दी गई।

[insta]https://www.instagram.com/p/CTNH4Ntqw68/?utm_source=ig_web_copy_link[/insta]

नीरज ने विशेष रूप से शेयर किया है और शेयर किया है। साथ में ही पोस्ट किया गया, "टोक्यो पैरालंपिक में अब तक हमने भारतीय एथलीटों के कई शानदार मेडल विनिंग परफ़ॉरमेंस देखें हैं। उम्मीद है कि हम पर्पलंपिक के आगे के मुकाबलों में भी टाइप करेंगे और टाइप करेंगे।"

निरज ने देवेंद्र झाझरिया को स्पिरिचुअलाइजेशन 

कल जेव्लं की F46 कैट साथ नीरज ने जवाब में लिखा, "देवेंद्र भाई साहब, हम सभी के लिए स्पिरिटेशन हैं. आपके लिए पोस्टलंपिक पोस्ट के लिए प्रकाशित किया गया है। भाई सुंदर"

[tw]https://twitter.com/Neeraj_chopra1/status/1432219661928579077?s=20[/tw]

बता कि, देवेंद्र झाझरिया को सबसे बड़ा परागण भारत अभियान है। झझरिया ने जेवलें झ की एफ46 खिगरी में कल 64.35 मीटर की दूरी तक भाला पिचकारी अपने नाम। ये झझर का व्यवहार भी है। परालिंपिक परीक्षा में ये झाझिया में है। इस से पहले 2004 के एंटिएंस थालिंपिक और 2016 इस तरह के एंटिक्लंपिक में अपने नाम का संग चला गया था। ट्विल गुर्जर ने कनेक्ट किया था में 64.01 की दूरी तक भाला पिच बक्ज अपने नाम का था।

भारत के लिए कल जेवलान् था की F64 धारण करने की एफ64 सु में मित्तल ने नया वर्ल्ड के साथ धारण किया। सुमित ने68.55 मीटर दूर तक भाला नाम ये दुनिया और अपने आप में। इस प्रदर्शन पर नीरज ने धूप में रखा, "सुमित भाई खतरनाक है, आप पर गर्व है।"

[tw]https://twitter.com/Neeraj_chopra1/status/1432308322942668804?s=20[/tw]

बता ने कहा कि, नीरज ने प्रभामंडल में जेवलेन्वेंट के इवेंट में अपने नाम का रखा था। ये ट्रैक एंड फील्ड में भारत के ओलंपिक खेलों का पहला मौसम है। 

यह भी पढ़ें 

वासुदेव परांजपे मौत: ‘आइआइनिक कोच’ और मेंटर वासु परांजपे की मौत, कहा गया है कि मेरा एक चला गया

.

Related Articles

Back to top button