Panchaang Puraan

navratri 2021 october shardiya navratri 3rd day maa chandraghanta and maa kushmanda puja vidhi mantra shubh muhrat bhog – Astrology in Hindi – Navratri 3rd Day : आज होगी मां चंद्रघंटा और कूष्मांडा माता की पूजा, नोट कर लें पूजा

नवरात्रि तीसरा दिन : नवरात्रि के पावन पर्व में माता के 9 पूजा की विधि- व्यवस्था से- क्रंच की स्थिति है। इस वैलेट के लिए इस नए नियम के अनुसार, इस व्रत को नियमित रूप से एक बार फिर से चालू किया जाएगा। आज माता के आकार और मंच की पूजा- . तारीख़ तिथि पर माता चंद्रा तिथि तिथि पर माता की चौथी तारीख मां कूष्माण्डा की पूजा-प्याज की तिथि है।

मां चंद्रघंटा का स्वरूप-

  • माता-पिता मां चंद्राभार पर मालिक हैं। दस में कमल कमल और कमडंल के अस्त-शस्त्र हैं। बाड़ा बाड़ा है। इस संदेश को प्रेषित किया गया है।

राशिफल 9 ऑक्टोब: सूर्य, बुध और मंगल ग्रह राशि चिन्ह, गुरु और शनि की वक्री चाल से ये सचेत, आगे का राशिफल

वस्त्र-

  • चन्द्रमाओं के उपासक को पहनने के रंग का उपयोग करना।

पुष्पम-

  • मां को सफेद कमल और पीले गुलाब की माला अर्पण करें।

भोजन-

  • माँ के खाने की खीर और खाने का भोजन। पंचामृत, पेय पदार्थ भी ठीक होता है।

मंत्र

पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्र कैरुता।
प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टातिति रता।।

मां कूष्मांडा का स्वरुप-

  • मां कूष्मांडा की बंबियां हैं। माँ को अष्टभुजा देवी के नाम से भी जाना है। चक्र में दशमलव, धनु, बाण, कमल-पुप, कलश, अमृत पूर्ण। आठ रात की थाली में जपमाला है। मां सिंह का कामकाज। मां कूष्मांडा सूर्य के रहने की स्थिति में हैं। माता के कांति भी सूर्य के समान है और तेज और प्रकाश से सभी निर्देश सीखते हैं।

देवी कूष्मांडा मंत्र-
या देवी सर्वभूयतेषु कूष्मांडा रूपेण थियता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:

8 दिन इन राशियों के लिए शुभ, सूर्य की तरह दिखने वाले भाग्य भाग्य

भोजन-

  • माँ कुष्माँडा को मालपुए प्रिये हैं

वस्त्र-

  • माँ कूष्मांडा की पूजा में उपासक रंग के वस्त्र का उपयोग करना।

आज के शुभ मुहूर्त-

  • ब्रह्म मुहूर्त– 04:40 ए एम से 05:29 ए एम
  • अभिजित मुहूर्त- 11:45 ए एम से 12:31 पी एम
  • विजय मुहूर्त- 02:05 पी एम से 02:51 पी एम
  • गोधूलि मुहूर्त- 05:46 पी एम से 06:10 पी एम
  • अमृत ​​काल- 08:48 ए एम से 10:15 ए एम
  • सूर्य योग- 06:18 ए एम से 04:47 पी एम

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button