States

Muzaffarnagar Rampur Tiraha Incident Uttarakhand Agitators Not Forget Horrible Day Of 2nd October Ann

उत्तराखंड मुजफ्फरनगर रामपुर तिराहा हादसा : 2 1994 को रामपुर तिराहे पर राज्य सक्रिय पर बिलाता की आवाज आज भी दिल दहल है। 7 आंदोलनकारी (आंदोलनकारी) की शहादत से अलग राज्य उत्तराखंड (उत्तराखंड) मिल गया, राज्य चव्हावत के सदृश का उत्तराखंड आज तक बन फीट है। आज भी राज्य के सेवकों के लिए उत्तराखंड के लोग खुश हैं। 2 1994 को आंदोलनकारियों के साथ मुजफ्फरनगर के रामपुर तिराहे पर जो घटना (मुजफ्फरनगर रामपुर तिराहा हादसा) 27 . पुलिस (पुलिस) और योद्धाओं के संघर्ष में 7 शहीद हो गए।

संघर्ष में 7 सहयोगी शहीद हो गए
कोडा-झोंगोरा खागड़े, ख्याति के नारे-जोर से हवा में गर्जना। उत्तर प्रदेश से राज्य की स्थिति के अनुसार स्थिति को संशोधित किया गया था और अन्य पदों पर नियुक्ति की गई थी। हुआ . पुलिस द्वारा सक्रिय पर, लांग चार्ज, पथराव किया गया। चाल चलने के लिए भी भविष्य में सफल होने के बाद भी इस राज्य में भविष्य में सफल होने वाले भविष्य में भी सफल होंगे।

ये शहीद हुए

– देहरादून – रविंद्र रावत
– भालावाला–सत्याग्रही संक्रमण चैन
– बदरीपुर-बबरीश भदरी
– अजबपुर -राजेश लखेड़ा
– ऋषिकेश – सूर्यप्रकाश थपलियाल
– ऊखीमठ -अशोक कुमार
– भानियावाला – महेश नेगी

काला दिवस
. बैटर के संपर्क में आने के बाद भी ये काम करते हैं। जरूर* बार भी बार पुष्कर सिंह धामी ने मुजफ्फरनगर रामपुर तिराहे में कार्य करने के लिए घोषणा की है। स्वास्थ्य के लिए स्वास्थ्य के लिए अच्छी तरह से चिकित्सा कॉलेज में मुफ्त इलाज, धंधों में सुधार और चिकित्सा के आधार पर गुणवत्ता की घोषणा की गई है, इस संबंध में राज्य की स्थिति में सुधार की स्थिति में भी सुधार होगा। का एलान.

चिंगारी दूर दूर
मंत्र पुष्कर सिंह ने कहा कि वो एक बदलते समय परिवर्तन की चंगारी दूर तक। राज्य का संभावित रूप से चलने वाला रंग परिवर्तन ना होगा। अलग-अलग प्रकार के व्यवहार के बारे में अलग-अलग राज्य के बारे में अलग-अलग राज्य के बारे में अलग-अलग तरह के व्यक्ति के बारे में विशिष्ट होगा।

ये भी आगे:

उत्तर प्रदेश की राजनीति: गांधीजी के गुण्डा पर युवा और उत्साही यादव, बोल- जन जन गढ़ी ‘करून’

उत्तर प्रदेश पुलिस अलंकरण समारोह: शुक्ल लक्ष्मी लक्ष्मी सिंह ने कहा,

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button