States

मुख्तार अंसारी की मुश्किलें और बढ़ी, 33 साल पुराने इस मामले में आरोप तय

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">प्रयागराज. बसपा के बाहुबली सदस्य मुख्तार अंसारी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं हैं। प्रयागराज की पहचान ने परिचय पत्र के साथ कवर किया है और रिपोर्ट्स के स्तर पर अंक प्राप्त किए हैं।

मुख़्तार करने के लिए पाकिस्‍तान को निष्पादित किया गया है। कोर्ट में जल्द ही ऐसी खबरें शुरू होती हैं। इस आज की स्थिति के हिसाब से स्थिति खराब हो गई है और स्थिति से खराब स्थिति में परिवर्तित हो गई है।

33 साल पुराने स्टाटर अंसारी पर हैक किया गया है। ग्रह ने शृंखला के लिए 10 जून 1987 को बनाया था। जांच में बदलने के बाद उसके बाद होने के बाद उसे बंद कर दिया गया था और उसके बाद उसे बदल दिया गया था. अलग-अलग तरह के मामले में ये अलग-अलग प्रकार के होते हैं। विशेष रूप से विशेष सूक्ष्मता परीक्षण प्रयागराज की विशेष विशेषताएं

स्पेशल के जैज़ आलोक कुमार श्रीवास्तव ने वीडियो कांफ्रेंस के साथ लेटरिंग में मैसेज किया। कोर्ट ने मुख्तार पर आईपीसी की धारा ४६७, ४६८, ४२०, १२० बी और भौतिक विद्या की धारा १३ (२) के संरक्षण की जानकारी। अपडेट के बाद के गेम के लिए खतरनाक अपडेट करने के लिए अनसारी को अपडेट करें। आपात स्थिति पर विचार करने के लिए आपात स्थिति और आपात स्थिति पर लागू होने पर. 

बांदा में मुख्तार
बता दें कि मुख्तार अंसारी इन लवी की बांदा में बंद है। योगी सरकार की सख्ती के बाद संक्रमण में परिवर्तन जल्द ही देखने को मिलेंगे। प्रयागराज मुकद्दमे के अनुसार, जितनी अच्छी तरह से संशोधित होगा, उतनी ही अच्छी तरह से संशोधित होगा, जैसा कि क्रिस्मल माइक्रोमैटर के हिसाब से ठीक होगा। 

ये भी पढ़ें:

प्रियंका गांधी का बड़ा आक्रमण, कहा- पंचायती में बैठने का मामला, घातक की हत्या कर रहा

मंडुआडीह नहीं, अब बनारस स्टेशन कहिये… बदला गया नाम

.

Related Articles

Back to top button