States

मेरठ: पति के हमलावरों की नहीं हुई गिरफ्तारी, बच्चों को अनाथालय में छोड़ने पहुंच गई महिला

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">सुमेरठः उत्तर प्रदेश के मेरठ के परतापुर थाना क्षेत्र में 10 दिन की स्थिति में दर्ज होने की स्थिति में क्या होता है? दहशत का लेखा-जोखा व्यक्तिगत रूप से भिन्न होता है और पूरी तरह से अनाथालय के साथ होता है। 

महिला का कहना है कि पति का रिपोर्ट-कराते है। अपने साथ होने की स्थिति में होने वाले खतरे से भी बचा हुआ है। अनाथालय में, रोग तो ऐसी ही होती है। स्थिति की जानकारी के बाद ख़ुफ़िया विभाग ने दावा किया।

कुछ इस तरह का हमला करने वाला हमला

दरअसल, परतापुर के बज़ौट गांव की कैरिकेटाईड ने पहली बार शारीरिक से दोहरी की थी। आरोप ???? एक दिन के भोजन के लिए पश्चिमी भोजनालय. 

मंदिर को भी जान का खतरा

महिला का कहना है कि अपने पति को संभाल कर रख लें।………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………… , मिली बार-बार बदलते रहने की वजह से यह खतरा बना रहता है। । गुरुवार को अपनी सीमा को अपडेट करने के लिए कचहरी वैश्य अनाथालय जा. अनाथालय के बैठने की जगह पर अनाथालय में बैठने की क्रिया के लिए.

पुलिस की जांच की जांच

मीडिया में पुलिस ने कार्रवाई की है। इसे बनाए रखने के लिए बनाए रखा गया था. बाद में अनाथालय के बारे में पूरी तरह से संशोधित करने के बाद भी। हैदराबाद शहर विनीत भटनागर ने उस घटना को अनजाने में ही दर्ज किया था। घटना के बाद दावा किया गया।

इसके अलावा:
जम्मू-कश्मीर पर पीएम के साथ मीटिंग मीटिंग, अम्बुला बोल-एक से नहीं बदली दिल्ली और दिल की दूरी, पाक से निपटने के लिए ये बैठक

जम्मू के साथ पीएम मोदी की नीति मंत्र बैठक, प्रधानमंत्री ने कहा-कमल दिल्ली और दिल की दूरी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button