Panchaang Puraan

masik shivratri in september 2021 date puja vidhi shani sade sati and dhaiya upay remedies totke – Astrology in Hindi

मासिक शिवरात्रि: ️ शनि️️️️️️️️️️️️️️️️️ मकर राशि, मकर व धनु राशि पर शनि की वैसाती और मिथुन, राशि पर शनि की चाल चलने वाली है। ज्योतिष में शनि को पापी और ग्रह कहा गया है। शनि के बढ़ने पर व्यक्ति का जीवन असंभव हो जाता है। शनि की पूजा करने के लिए और ढैय्या के शुकन की सफाई से सभी प्रकार के संचारी वितरण है। 5 सितंबर, रविवार हर तारीख को डेट करने के लिए हर तारीख को तारीख तय हो जाती है। इस दिन व्यवस्था-व्यवस्था से इस शंकर की पूजा-अर्चना की जाती है। सन की रक्षासाती और ढैय्या के पास धारण करने के लिए वायुमण्डल के वायुमण्डल के शुभचिंतक शंकर शंकर का जल से संबंधित पाठ करें। श्री रुद्राष्टकम का पाठ संदेश शंकर की विशेष कृपा प्राप्त करता है। आप भी श्री रुद्राष्टकम का पाठ कर सकते हैं। आगे पढ़ें श्री रुद्राष्टकम…

  • श्री रुद्राष्टकम

नमामिशमशान निरवाण रूपं, विभुं मण्डलं ब्रह्म वेदः रूपम्।
निजं निगुणं निरप्शनलं निरीहं, चिदाकाश मकाशवा सं भजेह हम्

6 बाद चमकाएँ इन राशियों का भाग्य, माँ लक्ष्मी और शुक्र की कृपा कृपा

निराकार मोंकार मूलं तुरीयं, जीर्णज्ञान गोतीतमीशं गिरीशम् ।
करालं महाकाल कालं कृपालुं, गुना गार संसार पारं नतोऽहम् ॥

तुषाराद्रि संकाश गौरं गभीरं, मनोभाव कोटि प्रभा श्री शरीरम् ।
स्फुरमनमौलि कल्लोलिनी चार्चू गंगा, लसद्भाल बालेन्दु कण्ठे भुजंगा॥

त्कुंण्डल रण्य आँखं विशालं, प्रसन्नाननं नीलकंठं दयालम्‌ ।
मृगधीश चर्माम्बरं मुण्डमालं, प्रिय शंकरं सर्वनाथं भजामि

प्रचण्डं प्रकष्टं प्रग्लभं परेशं, अखण्डं अजं भानु कोटि प्रकाशम्।
त्रयशूल निरमूलनं शूल पाणिं, भजेहं भवानीपतिं भाव गम्यम्

मंगल ग्रह की कन्या राशि में प्रवेश, 44 वर्ष तक ये राशि मिलान वार्षिक होने से होने वाले लाभ

कलातीत कल्याण कल्पाधिकारी, सदा सच्चिनान्द दाता पुराणी।
चिदानन्द संदोह मोहापहारी, प्रसीद प्रसीद प्रभो मन्मथारी

न यावद उमानाथ पादारविन्दं, भजनथी लोके वा नराणाम् ।
न तावद सुख शांति सन्ताप नाश, प्रसीद प्रभो सर्वं भूताधि वासं ॥

न गोमि योगं जपं नयव पूजा, न तोहम् सर्वदा शम्भुतुभ्यम्।
जारा जन्मौंघ

रूद्रष्टकं इदं प्रोक्तं विप्रण हर्षोतये
ये पंति नरा भक्त यतेषां शंभो प्रसीदति।।

मैं श्रीगोस्वामी तुलसीदासकृतं श्रीरुद्राष्टकं इम् पूर्ण

.

Related Articles

Back to top button