Panchaang Puraan

masik shivratri december 2021 date time puja vidhi shubh muhrat upay remedies totke – Astrology in Hindi

मासिक शिवरात्रि: हिन्दू धर्म में शिवरात्रि का अधिक महत्व है। हर तारीख को डेट करने के लिए हर तारीख में तारीख तय होती है। शिवरात्रि पर विधि- वसीयत से शंकर शंकर और माता पार्वती की पूजा-संपत्ति है। सुप्रिया शिवरात्रि का पर्व शंकर शंकर को समर्पण है। मार्ग शीर्ष पर आक्रमण करने वाले शिवरात्रि 2 दिन, तारीख़ को है। भगवान शिवरात्रि पर रात्री में पूजा का विशेष महत्व है. शंकशंकर की पूजा-अभिव्यक्ति से सभी मनोकामनाएं पूरी तरह से संबंधित हैं और शंकर शंकर की पूजा करते हैं। देवी माँ शिवरात्रि-विधि, मुहूर्त और सामग्री की शुभ सूची…

मुहूर्त-

  • मार्ग शीर्ष, कृष्ण चतुर्दशी – 08:26 पी दोपहर, 02
  • मार्गशीर्ष, कृष्ण चतुर्दशी फाइनल – 04:55 पी, दोपहर 03

5 तारीख़ ख़राब हुई इन राशियों का भाग्य, मंगल देव की कृपा से मंगल मंगल मंगल

मां शिवरात्रि पूजा विधि…

  • पावन ने जल्दी से जल्दी ठीक किया।
  • घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • शिवलिंग का गंगा जल, दूध, आदि से प्रार्थना करें।
  • गो शिव के साथ माता पार्वती की पूजा भी करें।
  • गणेश गणेश की पूजा करें। किसी भी शुभ कार्य से गणेश की पूजा-अर्चना की।
  • भोलेनाथ का अधिक से अधिक ध्यान दें।
  • ऊॅं नम: शिव मंत्र का जप करें।
  • भोलेनाथ को भोग भोग। इस बात का ध्यान रखें कि सात्विक स्वास्थ्य का भोग पूरा हों।
  • सूक्ति की आरती न करें।

मौसम में आने वाले मौसम के कारण सूर्य देव मेहरबान, धन- लाभ के साथ मान- सम्मान

माँ शिवरात्रि पूजा सामग्री सूची

  • पीत, फल फल मेवा, रत्न, बलि, दक्षिण, जल के पंच, कु शासन, दही, शुद्ध मौली, गंगा, पवित्र, पंच रस, जन, गंध रोली, बिलाव , धरा, भांग, बेर, मंजरी, चाव की बालें, तुलसी दल, मंदार पुष्प, गौ का दूध, ईख का रस, कपूर, धूप, दीप, रुई, मलयाबरी, चंदन, शिव व माता पार्वती की उत्पाद की सामग्री आदि। ।

पूजा का उत्तम मुहूर्त-

  • 2 दिसंबर 11:44 पी एम से 12:38 ए दोपहर, 03

.

Related Articles

Back to top button