Panchaang Puraan

Mars and Venus will change on September 6 know what will happen – Astrology in Hindi

छह सितंबर दिन रविवार को कन्या राशि में मंगल का आगमन हो रहा है और तुला राशि में शुक्र आ रहे हैं। सूर्य के साथ मिलकर मंगल सिंह इस मौसम में बर्ष का तापमान भी खराब हो गया था, उमस, दुनिया में अग्नि का तांडव मचा रहा था। जब सूर्य और मंगल ग्रह एक साथ गर्म होते हैं तो अग्निकांड, दावानल, भी गर्म होते हैं या संक्रमित होते हैं। मंगल ग्रह सुबह 3:58 बजे कन्या राशि में। मंगल ग्रह की शत्रु राशि है, कन्या राशि में परिवर्तन और भविष्य में प्राकृतिक विनाश पर रोक की उम्मीद है। संपर्क के साथ संपर्क करें: शुक्र शुक्र के स्वराशि कैसे प्राकृतिक में परिवर्तन परिवर्तन है। कन्या राशि में संभोग करने के लिए योनि में संभोग करने के लिए गर्भवती होने पर. अलग-अलग समयावधियों पर प्रभाव लागू करें I

मीन: मीन राशि के तारे मंगल और शुक्र के गोचर को ठीक करते हैं। पद, प्रतिष्ठा और धन की निरंतरता बनेगी। मंगल कन्या राशि में अशान्ति। भावना की भावना।
वृषभ: वृषभ राशि के लिए यह अनुपयुक्त है। मंगल ग्रह जो भी हो ऐसा इसलिए है क्योंकि आपने इसे बनाया है। कार्यों में निरंतर प्रगति होगी और तुला राशि में शुक्र का प्रभाव आपको नए प्रणय संबंधों की ओर अग्रसर करेगा। धन लाभ भी होगा।
मिनट: चतुष्कोण मंगल और पंचम भाव में शुक्र का प्रभाव जीवन में कुछ सुखद होगा। प्रभामंडल में धन का लेखा-जोखा धोखा होने वाली बनने वाली।
कर्क: कर्क राशिफल के लिए मंगल और शुक्र शुभ होगा। एक साथ जुड़े हुए हैं। एक महिला के वित्तीय सलाहकारों को लाभ हुआ। यात्रा भी कर सकते हैं।
सिंह: सिंह राशि वालों के लिए मंगल और शुक्र का गोचर शानदार। फल की तरह पूरे दिन अपना पालन-पोषण करें। प्रेमाकृति। परिवार के प्रजनन में।
कन्या: कन्या राशि में मंगल का चमका और शुक्र अच्छा है। गोचर की अवधि में इस घटना की शुरुआत हुई। जो भी जीत हासिल की है। परिवार से उत्तम। किसी मित्र से अनबन हो सकता है। ध्यान रखना।

यह भी आगे- ज्योतिष शास्त्र में इन योगों को सबसे पहले, शामिल करें आपकी राशि?

तुम: आप राशि के संबंध में धन के विकास के साथ, डॉ. पत्नी का सम्मान करें। एक वृद्ध महिला से भी आप लाभ उठा सकते हैं।
वृश्चिक: वृश्चिक राशि के व्यक्ति के लिए यह समय चमत्कारिक है। नया नया कार्य कार्य। व्यवसाय कार्य व्यवसाय में संलग्न व्यक्ति को अपना कार्य करने का तरीका. स्वास्थ्य का ध्यान रखना।
धनु: धनु राशि वाले के लिए नियति और कर्म भाव में ग्रह ग्रह। आपका पूर्ण परिणाम। कार्य कार्य बनेंगे। घर में मंगल का मंगल। धन का व्यायाम करना। किसी बुजुर्ग पुरुष से आप कार्य विशेष में संबंध रखते हैं।
मकर: मकर राशि के लिए सूर्य के गोचर समय-जुली फलाई देनदारी। आँकड़ों के बराबर। धन खर्च करने के लिए नए अपडेट बन सकते हैं। किंतु
कुंभ: अष्टम भाव में मंगल का गोचर और भाग्य में शुक्र का प्रभाव शुभ फलादेश लिखा होगा। संबंध से संबंध। समाज में प्रतिष्ठित। धन का परीक्षण करना।
मतलब: मीन राशि के व्यक्ति के लिए इस अध्यात्म का गोचर से . परिवार में मंगल का समान। धन का समय और प्रसिद्धि। गुणवत्ता से बेहतर।
(ये सही ढंग से काम कर रहे हैं और जनता के लिए ऐसी स्थिति में हैं।)

.

Related Articles

Back to top button