Panchaang Puraan

Mangal Rashi Parivartan 2022: From the 10th august the luck of these zodiac signs will increase read future predictions rashifal – Astrology in Hindi

10 अगस्त को मंगल ग्रह परिवर्तन कर रहे हैं। सुरक्षित रखने से पहले। 10 अगस्त 2022 गुरुवार को प्रातः 6:50 के बाद मंगल ग्रह की राशि से शुक्र में शुक्र होगा। इस राशि परिवर्तन से सिंह से मीन राशि तक के लोगों के लिए शुभ्राकर है।

इसके अलावा: मंगल का राशि परिवर्तन, राशियों का भाग्य चमक

सिंह : सिंह :सिंह प्रभामंडल के लिए मंगल भाग्य और सुख कारक कारक ग्रह कारक गोचर। परिणाम स्वरूप नियति वृद्धि । व्यय वृद्धि । परक्रम में वृद्धि। उत्साह में वृद्धि। घर और वाहन सुख में वृद्धि। पिता की सहायता सानिध्य में वृद्धि। पद पर सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि की स्थिति। ️

: कन्या राशि के सदस्य के लिए मंगल अष्टम और पराक्रम के भाग्य भाव में गोचर ट्रिमिंग हो रहे हैं। स्वरूप परक्रम में वृद्धि का परिणाम। सामाजिक प्रदर्शन में वृद्धि । गहन गहनता। चिन्ता में वृद्धि होती है। सुख में अनुभव हो रहा है। यात्रा खर्च अन्य खर्च में वृद्धि। नियति में रुकावट की स्थिति। श्री हनुमान जी की आराधना शुभ फलप्राप्ति।

मंगल ग्रह सप्तम और धन भाव के कारक हो द्वारा अष्टम में गोचर होंगे। कारोबार में वृद्धि के साथ धनागमन में भी वृद्धि। गति में वृद्धि। वाणी गहनता। पेट की समस्या। भाई दोस्त का समर्थन सानिध्य प्राप्त होगा। ️ तनाव वैवाहिक मूल के अनुसार उपाय करना

वृश्चिक :- वृश्चिक राशि के लोग मंगल ग्रह के सदस्य और रोग सप्तम के स्थान पर दम्पत्य भाव में गोचर हैं। प्रभाव मनोबल में वृद्धि। प्रदर्शन में वृद्धि। संपत्ति में वृद्धि की स्थिति के साथ-साथ राज्य सम्मान में वृद्धि। बैठक में वृद्धि। पिता की सहायता सानिध्य में वृद्धि। विशेषता पर आधारित विशेषता से उत्पन्न होने वाली स्थिति। प्रेक्षा पर

धनु :- धनु प्रभामंडल के लिए मंगल भोजन और पंचम भाव के कारक तत्व गोचर। फलतः स्थिति में सुधार। पिता की सहायता सानिध्य में वृद्धि। प्रतिस्पर्द्धी की स्थिति। यात्रा खर्च का खर्च। अत्यधिक भीड़भाड़ हो सकती है I समस्या के खराब होने के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य में भी वृद्धि हुई है।

मंगल ग्रह के सदस्यों को खुश करने के लिए कारक कारक पोषक तत्व में वृद्धि होती है। माता के स्वास्थ्य में सुधार। जमीन जायदा से रिपोर्ट में समीक्षा । गलत निर्णय लेने के समय का पालन करना गलत है। आय में वृद्धि । इस समस्या के समय में पेट भरने जैसी स्थिति पैदा होती है। श्री हनुमान जी महाराज की आराधना फल फली होगी।

कुम्भ :- मंगल ग्रह के सदस्य के लिए मंगल पर प्रभाव और स्थिति के कारक परिवर्तन में वृद्धि होती है। माता के स्वस्थता को सुधारना। तेजी से बढ़ रहा है। बैठक में वृद्धि। सामाजिक पद प्रतिष्ठा में वृद्धि। दांपत्य जीवन में यह मनमुटाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। आय में सुधार होगा।

मीन: – मीनल के सदस्य के लिए मंगल भाग्य और धन के कारक परिवर्तन में गोचर जा रहे हैं। सम्मान में वृद्धि। भाई बंधु मित्र का समर्थन और सानिध्य प्राप्त होगा। शत्रु पर विजय की स्थिति। मेमोरी से मुक्ति की स्थिति उत्पन्न होगी। भविष्य में भाग्य का साथ प्राप्त होगा। के स्वस्थ में सुधार और सानिधान प्राप्त होगा।

Related Articles

Back to top button