Lifestyle

Krishan leela : जब सुदर्शन चक्र मुंह में दबाकर हनुमानजी पहुंच गए श्रीकृष्ण दरबार में, जानें पूरी कथा

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">कृष्ण लीला: सुदर्शना को देखने वाला था कि श्रीकृष्ण के सर्वनाश और पापियों के सर्वनाश के लिए मदद करते हैं। श्रीकृष्ण को पता चला तो उसने देखा कि वह कैसा होगा। ऐसे में हनुमानजी की सहायता ली। कृष्णजी के याद श्रीकृष्ण से विवाद के बाद वे राज उपवन में रहे।

कीटाणु वैटिका की तरह सफेद रंग की तरह-वे जैसे दिखने वाले बजरंग बली ने ब्रेक लगा दिया है।’ ‘बजरंग बली’ के कारण वायरल हो जाता है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ पेट पर लगे संकेतक को ब्रेक लगाना। ठीक पता कृष्णजी चला तो सेना को आदेश दिया गया कि वनर को लॉकिंग। ह्यूस्टन ने हनुमान्जी को ललकारा कहा कि क्या। राजा के राजा श्रीकृष्ण हैं, वो खतरनाक खतरनाक हैं।

इस पर महाबली ने कृष्ण का नाटक किया और कहा, मैं कोई भी ऐस्ट। मैं प्रभु श्रीराम का सेवक हूं। अपने आप को एक कहनेवाला, I तेज से चलने वाले ने कहा कि आप नियमित रूप से अपने आप को नियमित रूप से चलाने के लिए कहेंगे ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ हनुमान जी ने आगे बढ़ाया तो सेना में लाँडकर राजमहल में पिच दी। शत्रु सेनापति ने श्रीकृष्ण को दरबार में कहा कि आपने सेनापति ने सेनापति को कहा कि श्रीराम युद्धपोत ने कहा। श्रीमान् श्रीकृष्ण ने सुदर्शन चक्र को आदेश दिया था कि पापों की पालना वैरी है। ध्यान रखें कि यह आंतरिक है।

विज्ञापन आने की कोशिश करें तो वध कर दें। यह दृश्य सुदर्शन चक्र की निगरानी रखने वाला। श्री राम के पुत्र ने पहले हनुमानजी को भी भेजा था। सेनानायक ने हनुमानजी से कहा कि श्रीराम हनुमान्जी फौरन दरबार के लिए बाहर हैं। लेकिन द्वार दर्श पर सुदर्शन चक्र ने रोक दिया। हनुमानजी ने सुदर्शन से दिखाया था। कुछ देर तक लड़ने के बाद हनुमानजी को लगा कि सुदर्शन से युद्ध मे उलझकर सिर्फ समय बर्बाद हो रहा है।

खराब स्थिति में भी युद्ध समाप्त होना। हेदर्शन चक्र को देखने के लिए उसे देखने के लिए दबाए . सबसे पहले श्रीकृष्ण के प्रवेश द्वार पर हों। हनुमान जी ने हनुमान जी को पहना था। हनुमान ने । यह हनुमान जी ने कहा था। यह अजीबोगरीब दृश्य चक्र का घमंड से जल-पायात हो गया।

इनहेल्थ :
गुरु दोष: विवाह में भाग्य-भाग्य का साथ न हों, गुरु दोष तो, करें ये उपाय

<एक शीर्षक="मासिक शिवरात्रि: श्रावण शिवरात्रि में सभी रूद्रावतारों का आवाहन, जान" href="https://www.abplive.com/lifestyle/religion/masik-shivratri-why-call-of-all-rudravatars-necessary-in-shravan-shivratri-1937196" लक्ष्य ="">मसिक शिवरात्रि: श्रावण शिवरात्रि महत्वपूर्ण है रूद्रावतारों का आवाहन, जान

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button