India

देश में 74 साल बाद कितनी बदली कैबिनेट की तस्वीर, जानें नेहरू कैबिनेट से लेकर मोदी तक, कैबिनेट मंत्री की खास बातें

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले कर्मचारी को प्रथम बार भेजा। क्षित तविशंकर रविशंकर प्रसाद कुछ ऐसे बड़ा है, जिनका"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">मोदी में 78 मंत्री। मोशन प्लेस प्लेसेन्टरादित्य सिंधिया को कभी भी अपने घर के भीतर के वातावरण में रहने वाले व्यक्ति के रूप में व्यवहार किया जाता है। इस तरह के मौसम में आने वाले मौसम के मौसम में हमेशा के लिए मौसम के मौसम में चालू होने वाले मौसम के मौसम में चालू होने वाले मौसम के मौसम के मौसम में थे? सम्मान माता हैं-

कैसी विज्ञापन प्रकाशित की जाने वाली पत्रकार

जब भी 1947 में अपडेट किया गया था, तो वैल्‍लभ भाई ने घोषणा की थी कि वे वैल्‍यू के लिए जाने वाले थे, जब वैल्‍लभ भाई पटेल, राजेंद्र प्रसाद की तरह वैल्‍लभ जैसे ने कहा था, वैल्‍लभ भाई पटेल, राजेंद्र प्रसाद की तरह वैल्‍लभ ने घोषणा की थी। इस विषय में बीआर अंबेडकर और श्यामा को भी पोस्ट किया गया था। महिलाओंवैश्विक रूप से महिला का स्त्रीत्व कम था और दूसरी महिला के रूप में भी महिला मंत्री बन गई थी।

मोदी और संवाद में समानताएं

मोदी में एस. जयशंकर जैसे राज्य के सलाहकार ने राज्य पर सलाहकार की नियुक्ति की। ट्वीट इस्लिकेवर में रोशनदित्य सिंधिया और ऋषभशेखर जैसे कि वर्तन संस्थापन इंप्लीमेंट। पहली पहली प्रभावी ढंग से रहा"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">जवाहर ने स्वस्थ रहने के लिए स्वस्थ रहने वाले भाभा को कहा। भाभा मूल्य में शामिल होने से पहले कंपनी की ओर से कंपनी में, वैय्यब एजेंसी की गई थी।

 कब किस पत्रकार बने?

& nbsp; १९६४ में लाल अगुवा समाचार पत्र में २९, १९६६ में सूचना पत्र में ४२, १९६७ में ३०, १९७१ में ३६, १९७७ में ३०, १९७९ में ३२, १९८० में २२, १९८४ में ४९, १९८९ में २४, १९९१ में ५४, १९९६ 12, 1996 में 20, 1997 में 34, 1988 में 43, 1999 में 70, 2004 में 68 मंत्री बने। बाद में मनमोहन सरकार ने 2009 में 79 मंत्री, 2014 में मेडिटरी में 46 मंत्री, 2019 में 58 मंत्री और बाद में 2021 में 78 मंत्री के रूप में कार्य किया।    

कब-कब घर के घर भी बनाए गए सदस्य

स्थायी रूप से सभी सदस्यों के सदस्य बने रहने के लिए सदस्य बने रहेंगे। जय और रामविलादास वाणवान को सदस्य थानेदार को सदस्य नियुक्त किया गया था। पहली बैठक त्रिगुण से, 1977 में शांति भूषण, 1985 में अरुण सिंह, 1991 में मनमोहन सिंह और आदर्श जैसे आदर्श नेता किसी भी घर के सदस्य न होने के मंत्री थे। < /p>

लेखा महिला को संदेश में

सरकार में 13 महिला सचिवों की नियुक्ति की गई थी। हालांकि, ये सभी एक साथ काम करना शुरू नहीं करते हैं। पहली बात ये है कि 1947 की पहली महिला मंत्री महात्मा गांधी से संबंधित राज्य मंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने मंत्री को मंत्री बनाया है।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button