Business News

Know How Much Tax You Pay to Centre, States for Fuel

पेट्रोल का दाम ने शनिवार को मुंबई में 100 रुपये प्रति लीटर की रिकॉर्ड ऊंचाई को छू लिया है। इस महीने की शुरुआत से घरेलू ईंधन की कीमतों में भारी वृद्धि हुई है। 18 दिनों के अंतराल के बाद, राज्य द्वारा संचालित तेल विपणन कंपनियों ने 4 मई को ईंधन की कीमतों में दैनिक संशोधन फिर से शुरू किया, तब से पेट्रोल की कीमत में 3.83 रुपये प्रति लीटर और डीजल में 4.16 रुपये की वृद्धि हुई है।

राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार को पेट्रोल भी अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 93.94 रुपये प्रति लीटर है जबकि डीजल 84.89 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। मुंबई में 29 मई को पेट्रोल की कीमत बढ़कर 100.19 रुपये हो गई है। वित्तीय राजधानी में एक लीटर डीजल 84.89 रुपये पर मिल रहा है।

भारत में ऑटो ईंधन की कीमत अंतरराष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमतों, रुपया-डॉलर विनिमय दर पर निर्भर करती है। इसके अलावा, केंद्र सरकार और राज्य पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क और मूल्य वर्धित कर (वैट) जैसे विभिन्न कर लगाते हैं। ईंधन की कीमत में डीलर का कमीशन और भाड़ा शुल्क भी जोड़ा जाता है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि पेट्रोल और डीजल माल और सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में नहीं आते हैं।

दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल-डीजल पर आप कितना टैक्स देते हैं?

पेट्रोल:

आइए 16 मई को दिल्ली में 92.58 रुपये प्रति लीटर के पेट्रोल की कीमत पर विचार करें। सरकारी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल के मुताबिक पेट्रोल का बेस प्राइस 34.19 रुपये है। भाड़ा शुल्क ₹0.36 निर्धारित किया गया है। डीलर राजधानी में पेट्रोल के 34.55 रुपये चुकाते हैं। इस कीमत में उत्पाद शुल्क या वैट शामिल नहीं है। पेट्रोल पर लगने वाला एक्साइज ड्यूटी 32.89 रुपये है। दिल्ली में डीलर कमीशन ₹3.77 प्रति लीटर है। इस पर 21.36 रुपये का और वैट जोड़ा जा रहा है। दिल्ली में वैट की हिस्सेदारी करीब 22 फीसदी है। इसके बाद दिल्ली में पेट्रोल का अंतिम खुदरा बिक्री मूल्य 92.58 प्रति लीटर आता है। (16 मई को)।

डीजल:

इंडियन ऑयल के आंकड़ों के मुताबिक 16 मई को राजधानी में डीजल का खुदरा भाव 83.22 रुपये प्रति लीटर था. बेस प्राइस 36.32 रुपये तय की गई है। 0.33 रुपये के माल ढुलाई के साथ, डीलर से लिया जाने वाला मूल्य 36.65 रुपये आता है। फिर उस पर 31.80 रुपये की एक्साइज ड्यूटी जोड़ें। डीजल पर डीलर का कमीशन दिल्ली में 2.58 रुपये है। इसमें 12.19 रुपये का और वैट जोड़ा जा रहा है।

केंद्र ने मार्च 2020 से मई 2020 के बीच पेट्रोल पर 13 रुपये और डीजल पर 16 रुपये उत्पाद शुल्क बढ़ाया। यह शुल्क अब डीजल पर 31.8 रुपये और पेट्रोल पर 32.9 रुपये है। वैट अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होता है। मध्य प्रदेश, राजस्थान 30% से अधिक वैट लगाते हैं – राज्यों में सबसे अधिक। पेट्रोल और डीजल के लिए डीलर का चार्ज अलग-अलग है। कमीशन 2-4 रुपये प्रति लीटर के बीच ईंधन पंपों के स्थान के साथ बदलता रहता है।

सभी पढ़ें ताजा खबर, आज की ताजा खबर तथा कोरोनावाइरस खबरें यहां

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button