States

Know About Uttarakhand Government Big Decision On Bureaucracy Order Issued Dehradun Ann

नौकरशाही पर उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला: ना होगा मसलन, बेलेगाम उत्तराखंड में एक ताजा फैसले को ही ले लीजिए, जो कानून देश में पहले से है, जिस कानून को अमूमन तौर पर वो ही लोग भूल गए जिन्हें लागू करना है। बग्घी की रक्षा के लिए बगावत की स्थिति में प्रबंधन करेंगे, तो यह हमेशा के लिए प्रभावी होगा। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤️

काम
मुख्यमंत्री पु ‍‍। मुख्यमंत्री का इशारा मिलते ही मुख्य सचिव सुखबीर सिंह संधू ने ऑल इंडिया सर्विस रूल 1968 का नियम 18 खोजकर कार्मिक विभाग को निर्देशित किया कि इस व्यवस्था को भारतीय प्रशासनिक सेवा के समस्त अधिकारीयों को याद दिलाया जाए। करना । फ़ंक्शन की विशेषता पंजिका में प्रविष्टि दर्ज करें। बाद में पूरा होने वाला पदस्थापना में क्रमादेश आने पर सन्नाटा दर्ज किया गया था। अब मेन्यूजिक जादुई मिलान संबंधी सूचनाओं को देख रहा है।

आदेश कार्य आईडी के लिए
वास्तव में इस अधिकारी का अधिकारी तक, राजा की स्तर तक पूरा हो जाएगा।. लेकिन, ये आदेश आईपीएस और आईएफएस के लिए क्यों नहीं जारी हुआ ये चर्चा का विषय है। एल इंडिया सर्विस रूल 1968 के नियम 18 से आइ नई की तरह मुश्कें कसने का प्रयास किया गया था जिससे नया नया और नया भी शुरू हो गया था। करना से दूँगा.

ये भी आगे:

राहुल गांधी ने कहा-‘मुझे आपकी पसंद पसंद नहीं है’, ब्लॉगर ने ये बात कही

पुलिस और वाहन चोरों के बीच चोरी, चोरी की बाइक चोर

.

Related Articles

Back to top button