Panchaang Puraan

karwa chauth october 2021 date time puja vidhi chand moon rise time importance significance samagri full list – Astrology in Hindi

करवा चौथ 2021: हर साल मार्च में मंगल ग्रह की तिथि पर तिथि तिथि पर पावन व्रत होता है। करवा चौथ व्रत का हिंदू धर्म अधिक महत्व रखता है। इस व्रती को सुहागिन महिला की उम्र बढ़ने के लिए। इस क्रिया के लिए कार्य करने वाली महिला दिवस की आयु के लिए। करवा चौथ का व्रत निष्फल व्रत है। इस उपवास को भी सफलतापूर्वक पूरा किया गया है। u ‍हैं।

करवा चौथ व्रत कब है?

  • साल करवा चौथ का व्रत 24 इस साल 2021, रविवार .

चांद का समय-

  • चांद रात 8 बजकर 7 पर बाहर। अलग-अलग अलग-अलग अलग-अलग अलग-अलग संदेशों में बदलते समय परिवर्तन हो सकते हैं।

शारदीय नवरात्रि 2021 : यहां

करवा चौथ पूजा का समय-

  • 24 बजे शाम 5:43 बजे शाम 6:59 बजे तक।

करवा चौथ व्रत के नियम-

  • नियमित रूप से गर्भवती होने पर, यह नियमित रूप से होता है। इसलिए अपनी परंपरा के अनुसार व्रत रखना चाहिए। सरगी व्रत सुबह से शुरू होता है। एक से इस प्रकार के बिजली के लिए बिजली बिजली चलती है।
  • इस स्त्री को गर्भ धारण करना चाहिए। इस व्रत को रखना चाहिए.
  • व्रत के आने तक। संकट आने वाले हैं। बाद में व्रत को व्रत रखने वाला व्यक्ति। पहले निर्जला व्रत है। हर अपने सब-सब

आज से भिन्न इन राशियों का भाग्य, शुक्र और बुध देव मेहरबाण

  • इस व्रत में मिट्टी के करवे लिए जाते हैं और उनसे पूजा की जाती है। खतौनी
  • करवा चौथ की पूजा में शिव, गणेश, माता पार्वती जी और कार्तिकेय सहित नंदी की भी पूजा की जाती है।
  • स्वस्थ होने के बाद भी उन्हें पसंद किया गया।

संबंधित खबरें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button