Panchaang Puraan

Karwa Chauth 2021: This auspicious coincidence is becoming Karwa Chauth fasting women should know these things – Astrology in Hindi

हिंदू धर्म में करवा चौथ सुहागिन के लिए खाद है। इस दिन सुहाग इंसान की आयु और निष्क्रिय जीवन के लिए जीवन के लिए कीटाणु रोग होते हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार, हर कार्तिक मास के कृष्ण चतुर्थी को करवा चौथ व्रत है। साल करवा चौथ व्रत 24, इस अभियान को। इस दिन व्रत के बाद दोपहर के समय वर्ष करवा चौथ पर स्थिरता और बढ़ रही है।

करवा चौथ पर बना ये शुभ संयोग-

करवा चौथ परिणति में उदित होगा। लाभप्रद दृष्टि से यह अच्छी तरह से अनुकूल है। यह तय होने के बाद मासिक धर्म पूर्ण होने लगता है।

19 या 20 पूर्ण शरद ऋतु? माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए इस मुहूर्त में पूजा

करवा चौथ पर चांद का समय-

करवा चौथ 2021 24 घंटे 24 घंटे बजे रात 08 बजकर 07 मिनिट। मंगल माह की तारीख 24 बजे, बजे 03 बजकर 01 पर प्रारंभ होगा और 25 बजे कल 05 बजकर 43 पर समाप्त होगा। पूजा की कुल समय 1 जागरण 17 है।

इन बातों का ध्यान रखना-

1. हिन्दू धर्म में कोई भी काम काला कर रहे हैं। यह घुड़सवारी का प्रतीक है। मंगलसूत्र के समय विषम रंग का उपयोग न करें।

22 से इन कतारों में जीवन में आने वाले लोग

2. सफेद रंग सौम्यता और शांति का प्रतीक है। सुहाग के लिए जाने जाने वाले भोजन व्रत में सफेद हों.

3. करवा चौथ के हाजी सुगिनी के रंग से संबंधित होने से। यह रंग रेरू और केतु का प्राध्यापक है।

इन वस्त्रों का निर्माण कार्य शुभ-

करवा चौथ के सुहागिनों को लाल, पीले, हे और महरून रंग के वस्त्र चाहिए। ज्योतिषाचार्यों के समूह, बार करवा चौथ व्रती को लाल रंग के कपड़े पहनने के लिए उपयुक्त बनाते हैं। इतना ही नहीं पहली बार व्रत रखने वाली महिलाएं अगर शादी का जोड़ा पहनती हैं तो, इसे और उत्तम माना जाता है।

.

Related Articles

Back to top button