Panchaang Puraan

karwa chauth 24 october 2021 puja vidhi importance significance samagri full list chand moon rise time shubh muhrat – Astrology in Hindi – Karwa Chauth 2021 : करवा चौथ व्रत 24 अक्टूबर को, नोट कर लें चांद निकलने का समय, पूजा

करवा चौथ 2021: हर साल मार्च महीने में मंगल ग्रह की तिथि तिथि पर तिथि होती है। इस साल 24 को करवा चौथ का व्रत। इस को सुहागिन महिला की आयु की आयु के लिए व्रत के लिए। हिंदू धर्म में करवा चौथ का सर्वाधिक महत्व है। करवा चौथ में निर्जला व्रत है। शाम को त्योहार की छुट्टी मनाने के लिए। आज के चैनल के माध्यम से हम करवा चौथ पूजा- विधि, चांद का समय और शुभ समय

मुहूर्त-

  • चतुर्थी तिथि- 24 बजे दोपहर 3 बजकर 1 से
  • चतुर्थी तिथि समाप्त- 25 अक्टूबर 5 बजकर 43 पर

17 से नए इनायतों का भाग्य, सूर्य की तरह दिखने वाला भाग्य, देखें क्या आप भी इस सूची में शामिल हैं

पूजा-विधि

  • जल्दबाजी में उठा लें।
  • स्नान के बाद के मंदिर की सफाई- स्वच्छता कर जयोत जलाएं।
  • देवी- विचार की पूजा- क्रंच।
  • निर्जला व्रत का संकल्प लें।
  • पावन शिव परिवार की पूजा- इस क्षेत्र की आबादी है।
  • सबसे पहले गणेश की पूजा करें। गणेश की पूजा की व्यवस्था किसी भी शुभ कार्य से की जाती है।
  • माता पार्वती, शिव और गणेशोत्सव की पूजा करें।
  • करवा चौथ के व्रत की पूजा की जाती है।
  • चंद्र दर्शन के बाद को दृश्य से देखें।
  • बाद में पति पत्नी को व्रत करेंगे।

सामग्री

  • चंदन, चार्ज, अगरबत्ती, पल्मित, दूधी दूध, गर्मा, शहद, मीठा, गंगाजल, अक्षत (चा), सिंदूर, विद, छुआ, कंकरी, बिड़ी, चुन्नी, मिट्टी, डामर कातिदार करवा व कवर, रुई, कूपर, शुक्, शक्कर का बूरा, लहसुन, जल का लोटा, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, चलने दीप, पूर्व पूर्व की अठावरी, हलवा और दक्षिणा (दान) के लिए पैसे आदि।

बृहस्पति वक्री 2021 : गुरु के मार्गी होने से आनंद, ये राशि धन वार्षिक वार्षिक, सभी राशियों पर प्रभाव प्रभाव

शुभ मुहूर्त-

  • ब्रह्म मुहूर्त- 04:46 ए एम से 05:37 ए एम
  • अभिजित मुहूर्त- 11:43 ए एम से 12:28 पी एम
  • विजय मुहूर्त- 01:58 पी एम से 02:43 पी एम
  • गोधूलि मुहूर्त- 05:31 पी एम से 05:55 पी एम
  • साहन ध्यान- 05:43 पी एम से 06:59 पी एम
  • अमृत ​​काल- 09:25 पी एम से 11:13 पी एम

रात का समय – रात 8 बजकर 11 मिनट पर। अलग-अलग अलग-अलग अलग-अलग बदलते मौसम में बदलते समय परिवर्तन हो सकते हैं।

पूजा का शुभ मुहूर्त-

  • 24 शाम ​​को 6 बजकर 55 से रात 8 बजकर 51 तक।

.

Related Articles

Back to top button