Panchaang Puraan

Kartik Maas 2021: Kartik month today know Vishnu lakshmi Tulsi pooja snan importance – Astrology in Hindi

कार्तिक मास 2021 : गणेश विष्णु को त्योहार का पर्व त्योहार आज से शुरू हो गया है। यह प्रिये की पवित्रता है। एक तक विष्णु का विष्णु-अर्चन और तुलसी के निमित्त दीपदान महेष पुर्ण। वात्सट्य के सलाहकार पूर्वाध्याय पूर्वाध्याय कार्तिक मास विष्णु और माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने का अच्छा समय है। माँ लक्ष्मी और नारायण की पूजा करने में वृद्धि होती है।

कलियुग में कार्तिक मास धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष क्षत्रिय है। ज्योतिष अरविंद मिश्रा ने नवरात्रि में मंगल को विष्णु विष्णु और विष्णु के समान ही श्रेष्ठ कहा है। इसी महीने भगवान विष्णु योग निद्रा से जागते हैं और सृष्टि में आनंद और कृपा की वर्षा होती है।

कार्तिक मास में सूर्योदय से पहले देखें फलन
इस मस में श्री हरि हैं। जल के कमामकांडों में मारक क्षमताकांड है। पुलस्त्य ऋषि ने यह भी कहा कि पर्यावरण निर्मल है और न ही बुद्धि। पर्यावरण से सूर्योदय से पहले नहाने के लिए क्या करना चाहिए। भार के लिए न्यास प्रयाग, अयोध्या, कुरुक्षेत्र और काशी को बेहतर बनाया गया है। इनके साथ ही सभी पवित्र नदियों और तीर्थस्थलों पर भी स्नान शुभ रहता है। अगर आप स्मृति से भी आगे निकल सकते हैं।

तुलसी का विशेष महत्व
त्योहारी माह में विशेष परागण. पुत्तल से यमदूतों के डर से मुक्ति है। मान्यता है कि कार्तिक मास में एक माह तक लगातार दीपदान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। वाहवाही के संचार में विष्णु और तुलसी का विवाह भी होता है।

इस तरह के घर में यमदूत लॉग इन करें। तुलसी जी की शादी में ऐसा था, इसलिए तुलसी की भक्ति है, अच्छी तरह से जी की तरह है। तुलसी जी के साथ बैठने की स्थिति में तुलसी जी के साथ बैठने की व्यवस्था होती है।

.

Related Articles

Back to top button