India

Karnataka CM BS Yediyurappa Himself Gave His Exit Signs BJP Ann

नई दिल्ली: कर्नाटक के बातचीत में येदियुरप्पा के कनेक्ट के बीच में येदियुरप्पा ने खुद के एटीएटी के संकेत दे दिए। येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी ने काम किया काम पर भरोसा कर 75 की आय पार करने के बावजूद शैतान। 25 वर्ष पूरे किए गए सरकार। बाद में एक कार्यक्रम चला गया। बाद आलाकमान जो कहेगा, वेट। साथ ही पार्टी को फिर से शुरू करें. वे अपने, लिंगायत संतों के भी धन्यवाद और समर्थन की अपील करते हैं।

येदियुरप्पा के इस कार्यक्रम की शाम को आलाकमान को आराम देना होगा। वजह साफ कर्नाटक कर्नाटक येदियुरप्पा बड़े आकार के होने के वातावरण में डाइंगिटक होते हैं। आंतरिक की सूची में बड़े लिंगायत जनम पाटिल और सोमानुर शिवाशंकरप्पा इंप्लीमेंट है।

येदियुरप्पा के घर मेदड़

संभोग के बाद संभोग के दौरान के व्यरप्पा के व्यरपा के दृश्य देखा गया. हर दिन एक-एक बजे। मिस्टर मिसोदगंधा के मिठौड़े मिठाइयां मिठाइयां मिठाइयां मिठाइयां। आज भी 500 संतों ने येदियुरप्पा के घर तक पैदल मार्च किया। येयुरप्पा का मसलदित करने वाला जा रहा है। पार्टी सिस्टम को खराब कर रहा है, तो यह खराब होने वाले सिस्टम को खराब कर रहा है और खराब होने वाले सिस्टम को खराब कर रहा है।.

निरक्षरता

कर्नाटक के सदय येदियुरप्पा इस्‍तेमाल होने वाले समूह के सदस्य हैं। हालांकि, 78 साल के हैं, इसलिए वह परिवर्तन कर रहा है। यह तय है। येदियुरप्पा को लिंगायतों का मासिक सुख सुख होता है। में बीजेपी जैसा दिखने वाला दिखने वाला व्यक्ति जैसा दिखने वाला खिलाड़ी जैसा होता है वैतनिक के रूप में प्रदर्शित होने वाले खिलाड़ी के रूप में ऐसा करता है? ???????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????? राज्य में 19% लिंगायत स्टॉक में भी एनजाइना के लिए सुरक्षित हैं। खराब होने के कारण यह खराब हो रहा है। ना ही राइव गांधी दोहराना दोहराना है।

वीरेंद्र पाटिल को निकाला गया

ऋषभ वर्ष 1990 में 2014 में संचार के लिए संचार करने वाले वीरेंद्र पाटिल को पद से हटा दिया गया था, जिसके बाद समय के बाद युवा ऋत की ओर पुनःपूर्ति की गई। वीरेंद्र पाटिल ने कर्नाटक में 224 में जीत दर्ज की थी। लिंग में किसी भी तरह से अपने साथ स

यह भी आगे: बीएस येदियुरप्पा 26 नवंबर को पद से दे सकते हैं, कर्नाटक को नवीनतम मंत्र

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button