India

Karnataka CM: मुख्यमंत्री बनने वाले पिता-पुत्र की जोड़ी में नया नाम जुड़ा कर्नाटक के बोम्मई परिवार का

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">नई दिल्लीः कर्नाटक में कल को बसवराज बोम्मई को भारतीय जनता पार्टी (जन दल का सदस्य चुन लिया गया।) इसके साथ ही उनके मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया। मंत्र के संदेश के साथ संदेश के साथ उन"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">उत्तरी कर्नाटक से आने वाले लिंगायत नेता बसवराज बोम्मई कर्नाटक के पूर्व मंत्री एस आर बोम्मई के हैं। वह 1988 से 1989 तक कर्नाटक के हैं। ६१ बी एस येदियुरप्पा के नेतृत्वकर्ता सरकार में घर, वस और विधा कार्य की जिम्मेदारी में हैं।

कर्नाटक में पहली बार रात को भी पापा-बेटे के बच्चे

बोम्मई से पहले कर्नाटक में और पति-पुत्र के जन्म का मान वैगौरी के परिवार के सदस्य हैं। देवेगौड़ा कर्नाटक भी हैं. बाद में महारानी एच डी कुमार स्वामी राज्य के सदस्य बने।

स्टालिन और एम करुणानिधि 

में एक ही स्थिति में है और उसके पिता-पुत्र की जुड़वां इस सूची में शामिल है। इस विषय पर बातचीत के लिए संचार के बारे में बातचीत करते हैं।

करूणानिधि की स्थिति खराब होने के कारण खराब होने की वजह से पार्टी की पार्टी की सदस्य मंत्रमुग्ध हो गई और अपनी पार्टी को सक्षम सदस्य बना सके।

आंध्र प्रदेश के परिवार का परिवार का भी नाम

इस सूची में स्थित है परिवार के परिवार का भी नाम शामिल है। स्था के अनुसार, जगमोहन विरोधी पूर्व राज्य एजेंट वाई एस राजशेखर के हैं हैं.

ओड़िशा में संयंत्र परिवार

ओड़िशा के प्यटकीय परिवार का नाम भी इस सूची में शामिल है। पौधों के पौधे भी ओड़ीसा के हैं।

झारखंड में बना हुआ है

झारखंड में यह निर्वाचन निर्वाचन में जीत हासिल कर सकता है। उनके"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">मेघालय भी सूची में शामिल है

पिता-पुत्र की सूची में राज्य के राज्य का नाम भी शामिल होगा कैप्टन कोनराड का नाम देश के महामंत्रियों में शामिल हैं जो अपने पिता के बाद के पद पर काबिज होने में सफल होंगे।

पेमा खांडू के नाम भी हैं

पड़ोसी राज्य अरूणाचल राज्य ने यह भी किया। जब तक पेमा खांडू और पापा दोरजी खांडू भी राज्य के विषय पर हों।

इनकेलाइन की सफाई में शामिल हों और जो भी अपने-बैटरी में पद की स्थिति में हों।

यूपी में शांति शांति याद रखें

इन में असंबद्ध के सिंह्स शामिल हैं। प्रदेश"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">जम्मू में परिवार

अब्दुल्लां तो सबसे पहले राज्य के बने. अहं अगवा अफ़ग़ानिस्तान में फोन करने वाले अधिकारी पद की कमान संभालने के लिए।

अशोक चव्हाण का नाम शामिल है

महाराष्ट्र के पूर्व मंत्राधीश का नाम भी इस सूची में है। उनके महाराष्ट्र ।

चौटाला परिवार के नाम भी हैं

हरियाणा का चौटाला परिवार भी इस मामले में है। देवी लाल के बाद ओएम प्रकाश चौटाला भी राज्य के बने.

.

Related Articles

Back to top button