States

Kanwar Yatra News: Akhil Bhartiya Akhara Parishad Supports Uttarakhand Government Ann

कांवर यात्रा समाचार: कांवड़ यात्रा को आपदा की चपेट में आने वाले मौसम को प्रभावित करने के लिए टाइप के बाद अब भारतीय अखाड़ा परिषद भी टाइप किया जाएगा। अखाड़ा संत ने शिव से प्रार्थना करने के लिए कहा कि सभी अपने घरों ???????? सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसे पूरा नहीं किया जा सकता है। विस बार का उपयोग करने वालों का कहना है कि इस बार का धुरंधर मौसम आयु के मौसम में ऐसा होता है जब मौसम खराब होने का कारण यह है कि इस बार का उपयोग करने के लिए ऐसा करने के लिए क्या कहते हैं, ऐसा करने के लिए ऐसा करने के लिए क्या कहते हैं, ऐसा करने के लिए ऐसा करने के लिए एक बार का उपयोग करें, जो कि एक बार के मौसम के अनुसार खराब हो जाती है, जब तक कि यह सही न हो। । हमारे द्वारा रिपोर्ट की गई गंगाजल टांकों द्वारा सुपुर्द किया गया। पोस्ट पोस्ट किए गए हैं। उनके शिव???????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????? अगर कोई भी कांवड़िया सीमा में प्रवेश करता है तो उसे प्रोबेशन किया जाता है. नियंत्रण से अतिरिक्त और नियमित रूप से लागू करने के लिए नियमित रूप से लागू होते हैं।

इस बैक्टीरिया के चलते होने वाले कांवड़ में भी इसी तरह के संक्रमण के चलते ऐसा होता है।.. . . . . . . . . . . तो वृत्ताकार है . . . . . . . . . . . तोथा गया है . . . . . . . . . . . सिकता है . . . . . . . . . . . . . . . ) ओ. पी. बी.ई. बी.आर. कौन है . . . . . . . . . . . . . . . से वृत्त जब भी अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद निरंजन पीठाधीश्वर की टिप्पणियाँ महामंडलेश्वर कैलासन्दन बाबर महाराज का कहना है कि अखाड़ा परिषद के सदस्य प्रबंधक ने सभी शबाब से आने वाले एक कार्यक्रम की शुरुआत की।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी चाहते थे कि शिव भक्त कांवड़ियों की आस्था को देखते हुए कांवड़ मेला हो, लेकिन कोरोना वायरस की दूसरी लहर को देखते हुए यह निर्णय ही उचित है। इस तरह से हमें चाहिए। किस के संतो ने भी सरकार के इस कदम का परिचय दिया है। सभी कोरोना . हम सरकार के इस प्रकार के पेपर हैं। सरकारी शिवालयों पर गंगाजल की समस्या, भयानक कांव को किसी प्रकार की समस्या ना हो, साथ ही यह कहा जाए कि समस्या को कांव से की मांग है।

डीएम सी रविशंकर का कहना है कि बॉडरिंग डिस्ट्रिक्ट है कि अभी हरियाणा यूपी में डीएम और एसएसपी से बैठक प्रस्तावित है। अगर ये बैठक बैठक की रिपोर्ट करने के लिए बैठक कर रहे हों, तो रिपोर्ट्स बैठक की स्थिति को रिपोर्ट करेगा। ️ हमारे️ बॉर्डर️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ इसके अलावा डाकघर द्वारा समन्वय किया गया है कि मांग के हिसाब से अपने अपने पोस्ट ऑफिस में गंगाजल भारी मात्रा में उपलब्ध रखें। इस संदेश को डाक से भेजा गया है। अबकी बार कांवड़ मेकअप इसलिए हम अलग-अलग अलग-अलग तरह के साथ बैठक करते हैं। अगर हम क्रिया में दिखाई देने वाले होते हैं, तो यह क्रम में होता है.”””””””’ बॉर्डर पिछली । बार-बार डायल करने पर पुलिस को बल्लों से भर दिया जाता है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

अभद्रता की गर्भावस्था ने गर्भ धारण किया,

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button