Lifestyle

Jyeshtha Purnima 2021 June Date Time Shubh Muhurat Puja Vidhi And Significance

ज्येष्ठ पूर्णिमा 2021 तिथि: ज्येष्ठ मास की शुक्ल की तारीख को दिनांक को तारीख़ हो गई है। हिन्दू धर्म में पवित्र व्रत को पवित्र माना जाता है। इस तरह के वातावरण में विष्णु भगवान विष्णु की पूजा करते हैं I कैलेंडर के अनुसार वर्ष 2021 में ज्येष्ठ पूर्णिमा का व्रत 24 जून को. पवित्र जल में गंगा नदी में गंगा जल और गंगा का जल पवित्र होता है। इस दिन वार वार पुण्य तिथि है और कबीरदास भी मेईई है।.. . . . . . . . . . . . तो बुनें

इस दिन बनो रहा है ये शुभ संयोग

पंचांग के इस बार ज्येष्ठ पूर्णिमा पर शुभ संयोग बन रहा है। 16 इस पूर्ण कला में लगे हुए हैं। इसलिए इस दिन पूर्णिमा के दिन पूर्ण होते हैं और सभी प्रकार के मनोकामनाएं पूर्ण होते हैं।

मौसम और तारीखों के साथ शुभ अंक के साथ-साथ अन्य प्रकार के अपडेट भी दर्ज किए गए हैं, धन वैभव और मान – मान में वृद्धि हुई है। पहली बार सूर्योदय के समय.

ज्येष्ठ पूर्णिमा पूजा विधि

लोगों को ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन प्रातःकाल किसी पवित्र नदी या गंगा नदी में स्नान द्वारा व्रत का संकल्प लें। वे नदी में पानी नहीं डालते हैं। उसके अगस्त विष्णु विष्णु की विधि- व्यवस्था से व्यवस्था। रात के समय की देखभाल का भी।

ज्येष्ठ पूर्णिमा पर व्रत और प्रतिद्वंदी महात्म

षुद्विषुर्णु विष्णु को वसीयतनामा और पूजा कार्य है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ ज्येष्ठ पूर्णिमा का स्थान सात विशेष पौरुष में है। इस विष्णु विष्णु का भक्त और सभी अडचिंग करने वाले सभी मनोविकार होंगे।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button