Panchaang Puraan

jupiter transit in aquarius 2021 guru rashi parivartan gochar november horoscope rashifal predictions effects on all zodiac signs – Astrology in Hindi

कुंभ राशि में बृहस्पति का गोचर 2021 गुरु राशि परिवर्तन गोचार नवंबर: 24 दिन में 24 दिन में दिन में 11:30 बजे देवगुरु अपने स्वभाव गोचरीय ट्रिमिंग के क्रम में शनि की ही राशि राशि कुम्भ में गोचर की गणना करेंगे। ट्रिमिंग करनेवाला करेंगे देवगुरु एक राशि में 13 जानने के लिए वक्री और मार्ग की गति के साथ गोचर ट्रिमिंग करें। देवगुरु मकर राशि में 14 से 21 तक अंक राशि कुम्भ में प्रवेश करते हैं। पूरी तरह से संपूर्ण चराचर सहित सभी घटक:

मीन :-

  • भाग्य देश और व्यंजन अभिव्यक्ति में।
  • परक्रम, नेतृत्व और सम्मान में वृद्धि।
  • मित्र, भाई-बंधुओ का सहयोग प्राप्त होगा।
  • संतान के स्वास्थ्य और प्रगति में सुधार।
  • प्रेमपत्य, प्रेम संबंध में सुधार, वैवाहिक प्रगति।
  • साझेदारी से लाभ भी बेहतर है।
  • पिता का समर्थन और भाग्य का साथ।
  • या उद्यम के लिए अधिक खर्च करें।

उपाय:- मंदिर की देखरेख और सेवा।

21 को सूर्य की तरह दिखने वाले इन राशियों का भाग्य, मीन से मीन मीन राशि तक का हाल

वृष :-

  • अष्टमेश और राज्य के भाव में।
  • परीवार कार्य में नया होगा.
  • जमीन जायदा, घर और वाहन में वृद्धि।
  • माता के सुख सानिध्य और आलस्य में वृद्धि।
  • और धनागम की नई व्यापार वृद्धि।
  • शत्रुओं में वृद्धि देखी जा सकती है।
  • इन्टरलोर रोग,एलर्जी,शुगर,विवर की समस्या।
  • नई साझेदारी,व्यापार और नई वृद्धि में वृद्धि।
  • अध्यापन,राजनैतिक क्षेत्र से लोगों को नुकसान होता है।

उपाय :- सत्यनारायण व्रत कथा का श्रवण करें।

मिनट:-

  • सप्तमेश और राज्य भाग्य में।
  • पर्सनैलिटी, सम्मान, सम्मान और वृद्धि।
  • परक्रम, दोस्तो,- परिवार के सुख में वृद्धि।
  • विवाह का समर्थन और प्रेम में वृद्धि।
  • व्यापार, आधुनिक ज्ञान की प्राप्ति।
  • सुन-अध्यापन, शिक्षा व संतान की प्रजनन।
  • कार्य क्षेत्र में प्रगति कर रहा है।
  • भाग्य बढ़ने के लिए अच्छा बनावट बना हुआ है।

:- अपने से संन्यासी उपाय,साधुओं और ब्राह्मणों का सम्मान करें। पीपल के देखभाल करें।

कर्क :-

  • रोग और नियति अष्टम भाव में।
  • धनागम और धन की नई वृद्धि।
  • कार्य वृद्धि ,परिवार में नया।
  • भूमि,स्थायी संपत्ति, आवास संपत्ति में वृद्धि।
  • व्यक्तिगत,व्यापारिक एवं तकनीकी ज्ञानवर्धक।
  • आक्रमण, आक्रमण, आक्रमण में।
  • ️ शत्रु️ शत्रु️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️!
  • भाग्य में रुकावट की संभावना।

इनदिनों में जन्म के दिन खराब होने के कारण, दिन- तारीख की तारीख में सम्भावित

: – लहसुन की 5.

सिंह राशि:-

  • पंचमेश और अष्टमेश सप्तम भाव में।
  • पर्सनैलिटी, आच्छादन, सम्मान और में वृद्धि।
  • परक्रम, दोस्तो, भाई-बहन के सुख में वृद्धि।
  • आय के व्यवसाय में वृद्धि।
  • प्रेम, दाम्पत्य जीवन मे तनाव।
  • व्यावसायिक प्रतिष्ठा में तनाव के साथ वृद्धि
  • क्षेत्र में वृद्धि, कार्य क्षेत्र में वृद्धि

उपाय :- मंदिर का निर्माण कार्य। गुरुवार को मंदिर की सफाई करें।

कन्या:-

  • सुखेश और सप्तमेश सष्ट भाव।
  • धनागम और धन की नई वृद्धि।
  • काम में वृद्धि, काम में नया.
  • पद-प्रतिष्ठा, सम्मान और कार्य क्षेत्र में वृद्धि।
  • व्यक्तिगत, व्यावसायिक और उपयोगी।
  • आर्थिक कार्य में, गणना की भविष्यवाणी।
  • आंतकी रोग और शत्रुओं में वृद्धि।
  • तनाव, प्रेम के तनाव या खर्च।
  • घर घर काम में रुकावट या तनाव।

उपाय :- चने डंडल सवा सौ ग्राम गाय को शाम को तैलाते।

तुम:-

  • परक्रमेश और रोग पांचम भाव में।
  • बुद्धि बल के आधार पर वृद्धि।
  • पर्सनैलिटी, प्रभूत, नवीनता और बौद्धिकता में वृद्धि।
  • आर्थिक विकास में वृद्धि।
  • पिता का समर्थन और भाग्य का साथ।
  • संक्रमित,पेशाब,शुगर व इंफेक्शन से सावधान।
  • बच्चों और विद्या के क्षेत्र में तनाव की स्थिति।
  • भाई बंधु,

उपाय :- बृहस्पतिवार को सौ ग्राम चने की दाल और 5 लहसुन की कली भी मंदिर में।

चाणक्य नीति : इस प्रकार से सक्षम से व्यक्ति सुखी रहने वाला है, जीवन जीने के लिए उपयुक्त है

वृश्चिक :-

  • धनेश-पंचमेश मौसम भाव में।
  • संपत्ति, गृह और वाहन,सुख के पर खर्च खर्च।
  • पद प्रतिष्ठा सम्मान में वृद्धि का योग।
  • नौकरी, लेखा, धन, आय में वृद्धि।
  • कनेक्शन,घबर तार व इंटरनेट की कनेक्शन।
  • पेट, वैर, पेशाब,शुगर व इंफेक्शन भी।
  • व्यापार व्यापार अर्थव्यवस्था का I
  • सुनाव-अध्यापन, शिक्षा, व वाणी।
  • व्यापार से लोगों को लाभ।

:- पुखराज रत्न उपाय करें।

धनु :-

  • भावेश-सुखेर में परिवर्तन करें।
  • और व्यावसायिक कार्य में वृद्धि के योग।
  • नौकरी, यश, पद-प्रतिशोध में या वृद्धि।
  • क्षेत्र से हानिकारक लोगों को फायदा होगा।
  • काम में सरलता और भाग्य का साथ मिलेगा।
  • माता के स्वास्थ्य में सुधार होता है और वातावरण में खुश्की आती है।
  • मनोभ्रंश, विचारो में परिवर्तनशील।
  • जमीन और वाहन के लिए बढ़िया।
  • वैभव जीवन, वैवाहिक दा प्रेम में वृद्धि।

:- पुखराज रत्न धारण करने के लिए अच्छा है।

मकर:-

  • व्ययेश और परक्रमेश भोजन भाव में।
  • राज्य सम्मान, यश, कर्म क्षेत्र में वृद्धि का योग।
  • सरकारी या निजी क्षेत्र के लोग लाभ के लिए.
  • शत्रु, विरोधी रोग और शत्रु से तनाव।
  • वाल्वर, इंफेक्शन, पेट से सावधान रहें।
  • परिवार में काम करने के लिए काम पर खर्च करें।
  • नियंत्रण पर नियंत्रण रखें।
  • सोचकर खर्च करने वाले कार्य से

उपाय :- गुरुवार को चने की दाल को दालें और 5 लहसुन की मन्नत में परिवर्तन करें।

धनवानों ने प्यार किया, माता लक्ष्मी की संतान विशेष कृपाण

कुंभ :-

  • धनेश और आयश की अभिव्यक्ति में।
  • व्यापार और नौकरी से धनागमन के सौदागर।
  • नई तकनीक के माध्यम से कार्य नई विद्या।
  • परिवार में सक्रिय मनोदैहिक चिंताएं।
  • संतान के स्वस्थ विकास से खुश।
  • परीक्षा, ध्यान, डिग्री, के लिए अनुपयुक्त।
  • पिता का और भाग्य का समर्थन प्राप्त होगा।
  • व्यवहार, कार्यो और प्रेम समाचार में व्यवहार
  • मनो चिन्ता भी किसी भी तरह से बना है।

उपाय :- गुरु, संत संतों, और माता पिता का सम्मान।

मतलब :-

  • राज्य और राज्य में निवास स्थान में।
  • जमीन जायदाद, संपत्ति की संपत्ति का लाभ.
  • माता के सुख-सुविधाओं का लाभ उठाएं।
  • घर के निर्माण और वाहन से खतरनाक सुखों पर खर्च।
  • आंतरायिक और रोग पर लागत वृद्धि।
  • खराब,किडनी,शुगर,इंफेक्शन से सावधान।
  • सम्मान और में।
  • झटपट व्यवसायिक या व्यवसायिक

उपाय :- साल और एक या दो बार रुद्राभिषेक करावें। मूल कुमकुम के लिए

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button