Panchaang Puraan

janmashtami 2021 in mathura date time puja vidhi krishna bhagwan ka birthday – Astrology in Hindi

जन्माष्टमी 2021 मथुरा में: उत्तर प्रदेश के मथुरा में 30 अगस्त को जन्माष्टमी प्रबंधन और श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा ने सभी व्यवस्थाओं को पूरा किया है। बैटरी ने जन्माष्टमी पर जन्माष्टमी पर स्विच किया था।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के लिए कीटाणु की पहचान की जाती है। किस प्रकार के स्थान पर पर आधारित होते हैं। 30 अगस्त को जन्माष्टमी मेनेईथॉम।

सूर्य के इन दिनों में सायं कोण पर मेहरबाण शनिदेव, एक क्लिक में मीन से मीन राशि का हाल:

वृंदावन गोवर्धन, नन्दगांव, महाबना आदि के अलग-अलग-अलग-अलग तरीके से जन्माष्टमी मेनेई संस्थान है। राधारानी नगर में तीन जन्मस्थान हैं जो श्री कृष्ण जन्माष्टमी के क्षेत्र में हैं।

जन्माष्टमी पर आने वाला हर भक्त श्री कृष्ण जन्म के जन्म के जन्म की जन्मी खुद होते हैं। उत्पाद के इस उत्पाद के रूप में यह श्री जन्मस्थान सेवा प्रदाता के रूप में स्थापित होता है।

मिथुन राशि, वृश्चिक राशि पर 6 शुक्र मंगल और सूर्य की विशेष, मान-सम्मान और पद- प्रतिष्ठा में वृद्धि

वैणु मंजरिका पर ठाकुर “वेणु मंजरिका” पुष्पक्रमी में विराजेंगे और “बैंगनछलासन” पर विराजमान ठाकुर अपुष्ट स्थल पर पहरा देंगे। वैभव कि रत्न कमल पुष्प में ठाकुर का प्रभाव प्रबल होता है, स्वर्णमंदित कामधेनु स्वरूप प्रा देवी प्रतिमा का प्रथम अभिषेक होता है। उनका कहना है कि श्रद्धालु जब जन्मस्थान के गर्भगृह में प्रवेश करेंगे तो उन्हें कारागार की अनुभूति होगी।

.

Related Articles

Back to top button