World

Jammu drone attack: Two IAF personnel injured in twin explosions, red alert issued on J-K border | India News

नई दिल्ली: जम्मू के वायुसेना अड्डे के अंदर रविवार तड़के दो ड्रोनों ने हमला किया जिसमें भारतीय वायुसेना के दो जवान घायल हो गए। धमाका शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात करीब छह बजकर 40 मिनट पर हुआ।

पहला धमाका हवाई अड्डे के उच्च सुरक्षा तकनीकी क्षेत्र में एक मंजिला इमारत की छत से हुआ जबकि दूसरा जमीन पर था।

सुरक्षा एजेंसियों का मानना ​​है कि हमला बेस के आसपास के 5 KM क्षेत्र से किया गया था और लक्ष्य एक IAF हेलीकॉप्टर था, हालांकि वे लक्ष्य से चूक गए। IAF बेस पर विस्फोटक सामग्री गिराने के लिए दो ड्रोन का इस्तेमाल किया गया था।

सूत्रों ने बताया कि हमले के बाद पंजाब और हिमाचल से लगती जम्मू-कश्मीर सीमा पर रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है और सभी चौकियों पर गश्त तेज कर दी गई है।

इस बीच, जम्मू पुलिस ने एलईटी के एक ऑपरेटिव के पास से लगभग 5-6 किलोग्राम वजन का आईईडी बरामद किया, जो इसे किसी भीड़-भाड़ वाली जगह पर लगाने के लिए जा रहा था। इस बरामदगी से एक बड़े आतंकी हमले को नाकाम कर दिया गया। संदिग्ध से पूछताछ की जा रही है, इस नाकाम किए गए आईईडी विस्फोट के प्रयास में और भी संदिग्धों के पकड़े जाने की संभावना है।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने पुष्टि की कि भारतीय वायुसेना स्टेशन पर हुए हमले को आतंकी हमला माना जा रहा है। सतवारी पुलिस स्टेशन में गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की अन्य संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

एक मजबूत है संभावना है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) इस मामले की जांच अपने हाथ में ले लेगी. अधिकारियों ने पीटीआई को बताया, “एनआईए जांच में शामिल होने के बाद पहले से ही विस्फोट स्थल पर जांच की निगरानी कर रही है।”

इस बीच, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू में वायु सेना स्टेशन पर आज की घटना के बारे में वाइस एयर चीफ, एयर मार्शल एचएस अरोड़ा से बात की। एयर मार्शल विक्रम सिंह स्थिति का जायजा लेने के लिए घटना स्थल पर थे।

पठानकोट के बाद अग्रिम क्षेत्र में किसी वायुसेना स्टेशन पर इस तरह का यह दूसरा आतंकवादी हमला है।

लाइव टीवी

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button