India

ISRO EOS-03 launching Live updates GSLV-F10 EOS-03 Launch Indian Space Research Organisation GISAT-1 satellite Sriharikota – India Hindi News

आजाद दिन का इस बार डबल होने वाला है। अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) मुक्त पढ़ने के लिए। अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इस्) के श्रीहटा से अंतरिक्ष वैज्ञानिक अंतरिक्ष अंतरिक्ष केंद्र अंतरिक्ष में जी-वी-एफ 10 के पृथ्वी पर बैठने के लिए अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान अंतरिक्ष अंतरिक्ष अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इस्) प्रक्षेप से भारत प्रदूषित हो रहा है। जी कोवी-एफ 10 के आकाश भू-अवलोकन आकाशीय-03 के प्रकाश में आने के लिए 26 घंटे की उलट श्रीहटा में हवा शुरू होती है। फरवरी में उत्सर्जन के उपग्रह अंतरिक्ष-१ और 18 अन्य उपग्रहों के प्रक्षेपण के बाद 2021 में इस प्रकार का प्रक्षेपण होगा।

इस घटना के बाद होने वाले मौसम में इस तरह के कीट होने के कारण ऐसा होने की संभावना थी। इस तरह की चेतावनी दी गई थी, ‘जीजी-वाई-एफ 10/ई-03 मिशन के लिए उलटी गिनती शुरू की गई थी। यह वैश्विक वैश्विक ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल्स की तस्वीरें बदलते हैं और क्रिया की तीव्रता भी बदलते हैं।

एक अन्य सूचना सूचना में, ‘अधु-अवलोकित आकाशवाणी इस-03 को जी ग्लोबल-फ्फ़ 10 के कहावत की स्थापना की गई थी। अंतिम भू-स्थिर कक्षा में एकत्रित होते हैं।’ इसरो के मुताबिक रॉकेट के किनारों पर लगे मोटर में तरल प्रणोदक भरने का कार्य पूरा हो गया है।

यह बृहस्पतिवार को 5 बजकर 43 मिनट पर सुसज्जित होगा।
डेटाबेस में परिवर्तन करने के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण विवरण व्यक्तिगत रूप से बदलते समय और कृषि, वन, जल और विशेष रूप से जानकारी के लिए सूचना प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण है। है। यह तारा 10 सेवा सेवा प्रदान करता है।

बताया जा रहा है कि जीएसएलवी उड़ान उपग्रह को 4 मीटर व्यास-ओगिव आकार के पेलोड फेयरिंग में ले जाएगी, जिसे रॉकेट पर पहली बार उड़ाया जा रहा है, जिसने अब तक अंतरिक्ष में उपग्रह और साझेदार मिशनों को तैनात करने वाली 13 अन्य उड़ानें संचालित की हैं। इस बारे में बैटरी में डेटा बदलते हैं। यह EOS-03 वैश्विक श्रेष्ठ श्रेणी के लिए उपयुक्त है।

पहली बार ऐसा करने के लिए I भारत का वातावरण 28 फरवरी को स्टाफ़ वातावरण में कीटाणु कीटाणु युक्त होगा। अंतरिक्ष के अमेजोनिया-1 और 18 अन्य उपग्रहों को आकाशीय आकाशीय उपग्रह अंतरिक्ष उपग्रह सी-51 श्रीहटा अंतरिक्ष से अंतरिक्ष से उड़ने वाला। अंतरिक्ष यान के कैमरे के बाद इस तस्वीर से I

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button