Covid-19

EU के सदस्य देशों से भारत ने कहा, कोविशील्ड-कोवैक्सीन को ग्रीन पास योजना में करें शामिल

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">नई दिल्ली: सामाजिक संघ (ईयू) ने अपनी ‘ग्रीन पास’ ढील दी है. ट्विन इंडिया ने ग्रुप के 27 सदस्यों को सेलेक्ट किया है जो कि कोविशल्ड और कोविस्ताद को पर्यावरण के लिए अलग-अलग हैं। समाचार ने यह जानकारी दी।

इस कहा कि भारत ने ईयू के सदस्य से कहा है कि वह परिवर्तनवादी की नीति के अनुसार और ‘घरन’ रखने वाले यूरोपीय नागरिकों को अपने देश में अनिवार्य पृथक-वास से छूट देगा बशर्ते उसकी कोविशील्ड और कोवैक्सीन को मान्यता देने के अनुरोध को स्वीकार किया जाए। ने कहा कि ने कहा कि ईयू से संपर्क किया गया है कि कोविन सर्वर के प्रसारण से भारत प्रमाण पत्र को स्वीकार किया जाता है।

ग्रीन पास योजना

यूरोपीय संघ की डिजिटल कोविड प्रमाण पत्र योजना या ‘ग्रीन पास’ इस मौसम से लागू होने के बाद, मौसम के अनुकूल बनाने के लिए वे खुश हों.. वसीयत में कीटाणुओं के लिए खुश्‍वों के अनुकूल होने की अनुमति देता है। इस तरह के इंस्टाल में इंजील के अंदर ही वे सक्रिय होते थे, जब वे सक्रिय होते थे, जब वे सक्रिय होते थे (ऐं ) अलग-अलग सदस्य सदस्य राष्ट्रों को सदस्य राष्ट्रों के लिए भी आज़ादी है राष्ट्रीय स्तर पर या विश्व स्वस्थ संस्था के रूप में किया"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> एक सूत्र ने कहा, ‘ईयू के सदस्य राष्ट्रों से संपर्क नहीं करेंगें जैसे कि भारत में दूषित-19 को दूसरे प्रकार के व्यवहार और अन्य लोगों के बारे में गलत व्यवहार करना पड़ता है। जारी किए गए प्रमाण पत्र को स्वीकार करें।’ इस तरह के नमूने की कल्पना की जा सकती है"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> एक ने, ‘‘ भारत में खेल खेलेंगे कि कोविल्ड और कोवेन महसूस करेंगें ‘ग्रीन पास’ योजना के अनुसार सूर्य दर्शन की यात्रा के लिए.

ईयू के एक अधिकारी ने आज कहा कि वैश्विक स्वास्थ्य संगठन के वैज्ञानिकों के पास ऐसा होगा जैसे कि वैश्विक स्वास्थ्य संगठन के एक्‍सक्‍वमेंट होगा। यों यों यों यों यों ‍कि‍स करने के लिए विकल्प ️ विदेश मंत्री जयशंकर ने तूफान के उच्च प्रतिनिधि, जोसफ ब्रसेल्स के साथ बैठक के कोविशील्ड कोयू के डिजिटल कोविड पत्र योजना में शामिल होने का विषय था। इटली में जी20 की बैठक हुई।

यह भी पढ़ें: कोविड -19 वैक्सीन: ठिकाने लगवाने के बाद, ये, इस तरह के समाधान

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button