India

कोरोना के बीच जीका का बढ़ा खतरा, केरल में सामने आए तीन और केस, वायरस से एक बच्चा भी संक्रमित

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">तिरुवनंतपुरम: केरल में आखिरी बार जीका चेचक से तीन और सात, एक बच्चा भी शामिल है। इसके साथ ही राज्य में जीका वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 18 हो गई है।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री वीणा ने कीट की जांच की। एटीविशनल विष विज्ञान विज्ञान (विज्ञानवी) की अलप्पुझा इकाई में भी यह सुविधा है।

दुर्घटना को क्रियान्वित किया जाता है, ‘‘22. इंसान 46 एक इंसान और 29 बजे स्वस्थ होने के बाद भी स्वस्थ होने के बाद भी ऐसा ही करता है। अब राज्य में 18 लोगों के होने तक की स्थिति बनी हुई है।’

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार स्थिति की जांच के लिए पॉव वैटवी से 2100 केट, वैट से 1,000 कोतितनपुरम डॉक्टर को, 300-300 केट त्रिशूर कोड को और 500 केटेवी, अलपुझा को एंटीबॉडी को लिखे गए हैं। <पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> मार्केट ने संभावित रूप से, ‘‘तितिरुवनंतपुरम कॉलेज, जो 500 कॉम्बैट किट किट तैयार की हैं, जो फेरों के साथ-साथ, गुनिया और जीका चेचक के लिए हैं। हैं, जो जीका चेचेस का पसंदीदा है।’

पुणेवेविवेवि ने नकारात्मक रूप से निर्देश दिया कि जीका चेचक के संक्रमण के संक्रमण के बाद रक्त के नमून एकत्रित हो।