Jobs

IIT Placement 2020-21: महामारी का असर, देश भर के 200 से भी कम छात्रों को मिली इंटरनेशनल प्लेसमेंट

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> भारत में उच्चतम तकनीकी (आईआईटी) 2020-21 में पूरा किया गया। इन इस तरह की स्थिति में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्थिति में कमी आई है। देश भर में 200 से कम आंतरिक या विदेशी अंतरिक्ष प्राप्त की है।

कोविड 19 पर्यावरण के अनुरूप है। IIT 2020-21 में कम अंतरराष्ट्रीय ऑफ़र देखें। इतना ही नहीं इस साल कंपनशेसन पैकेज में भी काफी कमी आई है। गौरतलब दो"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> आईआईटी मेंटमेंट = 2020-21- मेन लाइट लाइट्स

आईआईटी यदृच्छिक विकास में 159 की वृद्धि हुई है।

2020 में शुरू होने के बाद आईआईटी गांधीनगर नई नई नई स्थिति पर।

आईआईटी नागपुर, आईआईटी और आईआईटी रुड़की में भी डेल्ही के रूप में दूसरी त्वचा में बदलने की क्षमता है।

आईआईटी रुड़की में उच्च उच्च गुणवत्ता वाला सूचकांक 153 मिलियन डॉलर प्रति वर्ष से घटकर 69.05 मिलियन डॉलर प्रति वर्ष हो गया।

आईआईटी वाणिज्य में वर्ष 2019 और 2020 की तुलना में कम विकसित हुआ।

महामारी के समय में मौसम था

टाइम्स ऑफ इंडिया में बदलने के लिए आईटी के मुताबिक़ समय में बीमार होने के मामले में वह समय में बीमार होता था। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ प्रक्रिया के साथ प्रक्रिया को ऑनलाइन करने के लिए। ️️ कोविड️️️️️️️️️️️️️️️ फिर भी IIT 2020-21 का परिणाम दोबारा पूरा किया गया।

अगले सेशन तक सामान्य होने की उम्मीद

संस्थान को उम्मीद है कि सुबह जल्द ही शुरू हो जाएगा और फिर शुरू हो जाएगा। आईआईटी जा सकता है 2020-21 के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए छात्र अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।

ये भी पढ़ें

एसएससी जेई 2020 ई. का रिजल्ट घोषित, 5711 ने पावर ने स्विच किया 2 के लिए क्वालिफाई

कोरोना के बीच उत्तर प्रदेश में आज से संचार के लिए फिर से संचार स्कूल

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button