Panchaang Puraan

हाथ में हो रेखा का यह योग तो यात्रा में अचानक मिलता है धन

ऐप पर पढ़ें

यात्राएं व्यक्ति के जीवन का हिस्सा हैं। व्यक्ति को जीवन में छोटी से लेकर बड़ी-बड़ी यात्राएं करनी पड़ती हैं। यह दूसरे देश की यात्रा भी हो सकती है। हस्तरेखीय विज्ञान में कई प्रकार से संयोग से व्यापक वर्णन है। जानिए हाथों में बनी यात्रा रेखा और उनके परिणामों के बारे में।
– यदि चंद्र पर्वत से कोई यात्रा रेखा निकलकर स्पष्ट से हृदय रेखा में मिले तो जातक के यात्रा में प्रेम संबंध होते हैं। इस स्थिति में विवाह की प्रविष्टि भी रहती है।
-चंद्र पर्वत से निकली कोई यात्रा रेखा हथेली को पार कर गुरु पर्वत पर पहुंचें तो व्यक्ति के जीवन में कई सुदूर स्थानों की यात्रा करनी पड़ती है। ऐसे लोग लंबी विदेश यात्रा भी करते हैं।

आपके यहां है तिल तो आग और बिजली से रहिए दूर

-यात्रा रेखा का मस्तिष्क रेखा में किसी भी व्यवसायिक समझौते के माध्यम से संदेश यात्रा के माध्यम से या फिर संबंधित कार्यों के अनुबंध का संकेत देता है।
-बुध पर्वत पर यदि कोई यात्रा रेखा पहुंच रही है तो जातक को यात्रा में ही एक धन की प्राप्ति होती है।
– यदि चंद्र पर्वत से कोई यात्रा रेखा निकली तो है, लेकिन यह हथेली के बीच से ही वापस मुड़कर चंद्र पर्वत पर जाए ऐसे लोगों को किसी भी कारण से अपने देश को वापस लौटना पड़ता है। जातक की यह स्वदेश वापसी किसी मजबूरी के कारण होती है।
-यात्रा रेखा पर क्रॉस और इसके पास में कोई चतुष्कोण बना हो तो यह शुभ संकेत नहीं है। इस स्थिति में व्यक्ति की यात्रा का निर्धारण किया जाता है।

(इस दस्तावेज़ में दी गई सूचनाओं पर हम यह दावा नहीं करते हैं कि ये पूर्णतया सत्य एवं नाम हैं तथा इन्हें अनाथ से युवा परिणाम मिलेगा। जिसे केवल सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखते हुए प्रस्तुत किया गया है।)

 

Related Articles

Back to top button