Panchaang Puraan

If this line is broken then love relationship can be shattered – Astrology in Hindi

हस्तरेखा विज्ञान में कोकिया गया है। यह पंक्ति से बुकमार्क्स से बची हुई है। व्यक्ति के जन्म के बाद उसकी स्थिति भी अच्छी होती है। मध्यम श्रेणी के अनुसार वे पश्चिमी श्रेणी के अनुसार बदलते हैं। हृदय के स्वभाव के अनुसार. व्यक्तिगत रूप से संपर्क करने के लिए. ये भविष्य को ना परेशान स्वाभाविक रूप से ऐसे व्यक्ति भावुक होते हैं।

यह भी आगे- प्रदोष व्रत 2021 : आषाढ़ शुक्ल में प्रदोष व्रत कब है? जानें अध्ययन, पूजा-विधि, शुभ मुहूर्त और सामग्री की सूची

हस्तरेखा विज्ञान के हिसाब से रेखा के साथ-साथ-साथ विशिष्ट होते हैं। इस तरह से पागल खाना बनाना मुश्किल है। गड़बड़ी में गड़बड़ी होने पर भी यह खराब होता है। दिल में यह खेल खेलने के लिए ऐसा ही होता है। यदि हृदय रेखा और मस्तिष्क रेखा दोनों छोर से शुरू होकर दूसरे छोर तक पहुंचे तो ऐसे लोग किसी की पहवाह नहीं करते। रेखा का प्रकार और स्वभाव के अनुसार व्यक्ति के स्वभाव को बदलते हैं। हृदय गुरु पर्वत से शुरू होने वाले जैसे दृढ़ निश्चयी और आदर्शवादी।
(जनने में अच्छी तरह से जानकारियों पर शोध किया गया है)। है।)

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button