Panchaang Puraan

Horoscope today 4 december 2021 rashifal today aaj ka rashifal future predictions for 4 december 2021 todays lucky and unlucky zodiac signs rashi – Astrology in Hindi

राशिफल आज 4 दिसंबर आज का राशिफल : ज्योतिषाचार्य पंडित नरेन्द्र उपाध्याय
मौसम की स्थिति-
राहु वृषभ, मंगल ग्रह राशि में हैं। सूर्य, बुध, और वृश्चिक राशि में. शुक्र धनु राशि में, शनि मकर राशि, गुरु कुंभ राशि में गोचर में हैं।

राशिफल-

मीन-बचकर पार करें। काम करना संभव है। किसी को नुकसान हो सकता है। सूचनाएँ कोई रिस्क न लें। दैहिक स्‍‍‍‍‍‍‍य हो, बच्‍चों की संतान या सत्‍ता हो। पर ध्यान देने योग्य सब कुछ। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से ठीक है। सूर्यदेव को. लाल वस्तू।

वृषभ-‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]कोई नया व्‍यापार शुरू न करें। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम की स्थति भी मध्यम है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से भी मध्‍यम है। गणेश जी की आराधना करें। सूर्यदेव को जल।

मिनट-शत्रुओं पर दुश्मन। किसी भी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए। आप गलत हैं। निर्धारण-निर्धारण-विन्यास। प्रेम-व्‍यापार की स्थिति सपने देखने योग्य है। हरी वस्तू।

कर्क-मन-मस्तिष्क के साथ। प्रेम में तुम, मैं-हो सकता हूं। अकर्मकता और प्रेत से संबंधित। स्‍‍‍‍‍‍य मध्‍य, प्रेम मध्‍यम, व्‍यापार मध्‍य ध्‍यम। बचकर पार करें। लाल वस्तू। बजरंग बली की शरण में बने।

सिंह-भूमि, भवन, वाहन की रोक. मां के स्‍‍‍‍‍‍थ्‍य पर्‍क्षण. मौसम की स्थिति में है। घर की सुख-सुविधाएं। ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍य प्रेम की स्थिति उम्मीद है। व्‍यापार भी ठीक है। गो शिव की अराधना..

कन्या-परक्रम रंग। हर तरह के साथ वायवसायिक दृष्टिकोण से समय सार्वभौम। ठीक ठीक है। एक-कान-गला की समस्या हो सकती है। प्रेम, कल्पना की स्थिति उम्मीद है। लाल वास्तु का दान।

तुम-अर्थव्यवस्था कोई भी रिस्क न लें। पैसा डूबेगा। नियंत्रण नियंत्रण। बिल्‍कुल न करें. कुटुम्‍बीजनों से तुम, मैं-इत् के चिह्न। बचकाना पारा। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। नेत्र, नेत्र रोग हो सकता है। प्रेम, व्‍यापार की स्थिति उम्मीद है। लाल वास्तु का दान।

वृश्चिक-माया का द्रदमा है। ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍! स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍) बेली प्रेम, व्‍यापार की स्थिति उम्मीद है। लाल वास्तु का दान।

धनु-मन सेक्स. राजसत्ता खराब स्थिति में है। अप सुरक्षा से, बड़ों इस समय परेशानी हो सकती है। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम मध्यम, व्‍यापारिक दृष्टिकोण से हिंदी में चलना। बजरंग बली की आराधना. केसर का तिलक.

मकर-उम्मीदों से उम्मीद की जाएगी। मन सेक्स. समाचार समाचार मिल रहा है। अंतत: लाभ प्रेम और संतान की स्थिति भी ठीक है। माँ काली की अराधना..

कुंभ-दुष्परिणाम है। पति के स्‍‍‍‍‍‍थय पर ध्यान दें। अपने स्थान पर ध्यान दें। प्रेम और संतान की स्थिति मध्यम गति से ठीक है। गणेश जी की आराधना करें। लाल वास्तु का दान।

मीन-गर्भवती होने का डर है। स्‍‍‍‍‍‍‍मैथ्‍यम, प्रेम और बच्‍चे की स्थिति उम्‍मीद की स्थिति में होगी। भोलेनाथ की अराधना.

प्रस्तुति-
अजय कुमार सिंह
गोरखपुर।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button