Panchaang Puraan

Horoscope rashifal today aaj ka bhavishyafal future predictions for 24 april 2022 todays lucky and unlucky zodiac signs rashi – Astrology in Hindi

राशिफल आज आज का राशिफल : ज्योतिषाचार्य नरेद्र उपध्याय
मौसम की स्थिति-
मीन राशि में सूर्य, बुध, राहु हैं। केतु तुला राशि में हैं। शनि ग्रह का समीकरण मकर राशि बनायी गयी है। शुक्र और मंगल दो परस्‍पर शत्रु ग्रह राशि में और स्‍वग्रही गुरु मीन राशि में विराजमान हैं।

राशिफल-

मीन-व्यापारिक घाटा होने के संकेत हैं। प्रत्येक कच्छ हरे से। राजनीतिक क्षेत्र में कोई भी नया प्रयास न करें। पराभव है। व्‍यापार्क दृष्टिकोण से मध्‍यम समय है। पद के स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍यं. . संतान और प्रेम भी मध्यम है। कुल मध्यम है। सूर्यदेव को जल और काली वस्तु का दिवस।

वृषभ-में कश्त की यात्रा है। कामों को मजबूत बनाने के लिए काम करना। काम करने वाला काम करने वाला है। पालन ​​करने का प्रयास करें। ठीक ठीक है। प्रेम और उम्मीद की उम्मीद है। व्‍यापार्क दृष्टिकोण से सही समय कहा गया। शनिदेव की अराधना..

मिनट-इसे भी तैयार किया गया है। काम करना संभव है। किसी को नुकसान हो सकता है। बचकर पार करें। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम और निरंतरता की स्थिति। वthabaurिक ther तौ rur प मध मध ktauran समय समय समय अपनी सुरक्षा व्यवस्था रखें। उम्मीदें होंगी।

कर्क-आस-पास के वातावरण बढ़ते हैं। किसी भी प्रकार का लेंस लें। कोई भी नया व्‍यापार शुरू न करें। उदर रोग से संक्रमित हो सकते हैं। प्रेम और व्‍यापार की स्थिति. लाल वस्तू।

सिंह-शत्रु शत्रु शत्रु भी है। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम और संतान की स्थिति भी मध्यम है, जैसा कि वैयापारिक दृष्टिकोण से आप आगे बढ़ते हैं। शनि देव का दान।

कन्या-प्रेम में बहकर कोई भी फ़ोन न लें। जोखिम समय है। ग़लती की जाँच पर ध्यान दें। प्रेम में टी-तू, मैं-I स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। व्यापार्क दृष्टिकोण से ठीक से चलना। पीली वस्तु का दान।

तुम-होमकलह के चिह्न। क्रियात्मक स्थिति में है। घर में नकारात्‍मक संप्रेषण कैसे घर को सुखी बना सकता है। स्‍‍‍‍‍‍‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम व्‍यापार का समाधान. व्‍यापार नई दिशा भी। पीली वस्तु का दान। शनिदेव की आराधना करें।

वृश्चिक-क्रमांक रंग। अपरिपोर्ट के सहायता से व् यवसायिक सफलता। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम और व्‍यापार का समर्थन है। पीली वस्तू।

धनु-गंदी भाषा के उपयोग से गंदी कुछ भी बोलें। इन्वेस्टिगेशन न करें। मुख रोग हो सकता है। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम, गर्भधारण और विजय उम्मीद है। शनिदेव की अराधना..

मकर-जीवन आशा से बदल सकता है। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍कें. प्रेम और संचार का समाधान. व्यावहारिक दृष्टिकोण से कुछ नया कर सकते हैं। शनिदेव की आराधना करें।

कुंभ-अनजान भय सता। विस्तार को बढ़ा-चढ़ाकर से मन भंग करना। संतान और प्रेम इस देवता को। व्‍यापार-करीब सही। गणेश जी की अराधनाएं।

मीन-ग़लती की जाँच पर ध्यान दें। प्रेम में टी-तू, I-I चल रहा है। धन-दौलत, कम-पैसे की कमी नहीं होगी। बेहतर बेहतर बेहतर होगा। भोलेनाथ की अराधना.

प्रस्तुति-
अजय कुमार सिंह
गोरखपुर।

Related Articles

Back to top button