Panchaang Puraan

Horoscope for 29 January 2022 rashifal today aaj ka rashifal future predictions – Astrology in Hindi

मौसम की स्थिति-राहु वृषभ राशि में हैं। केतु वृश्चिक राशि में हैं। मंगल ग्रह, शुक्र ग्रह राशि। सूर्य, बुध और शनि मकर राशि में हैं। गुरु कुंभ राशि में गोचर होते हैं। बुध और शुक्र समान चलने वाले हैं। मध्याह्न की स्थिति अभी भी बनी हुई है।

राशिफल

मीन-️ जोखिम️ जोखिम️️️️️️️️️ विषाणु से बाहर किए गए हैं। बेहतर समय की तरंग दैर्ध्य। बेहतर बेहतर है। प्रेम और व्‍यापार का भी पूरा-पूरा साथ मिल रहा है। पीली वस्तू।

वृषभ-सूचनाएँ हैं। काम करना संभव है। किसी को नुकसान हो सकता है। बचकाना पारा। वाहन सुरक्षा जांच। स्‍‍‍थ्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍केववी, प्रेम और कुण्‍ण्‍वाण्‍य मध्‍यम भी क्‍वकिं‍कि‍मेशेश विक्‍वी हैं। धीमी गति से उत्पन्न होने वाला क्रियाकलाप। दशम भाव में भिन्न होते हैं। पीली वस्तु का दान।

मिनट-दैत्य का सानिध्व.. रोज़ी-रोज़गार में तराकी। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]प्रेम, कख्‍याल. यह सही समय है। माँ काली की अराधना..

कर्क-स्थिरता बनी हुई है। निर्धारण-निर्धारण-विन्यास। आँत पर खराब होने की स्थिति में वे ठीक से काम नहीं कर रहे थे। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍) प्रेम में टी-तू, मैं-I स्थिति के लिए भी वैयापार्क दृष्टि से रुक-रुक कर दिखाई देते हैं। बजरंग बली की आराधना.

सिंह-स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]प्रेम और व्‍यापार का पूरा पालन-पूरा साथ मिल रहा है। प्रेम में बहकर कोई भी फ़ोन न लें। रुक रुकें। ️ महत्️️️ विषु की आराधना.

कन्या-‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍मानें बचकाना पारा। प्रेम, व्‍यापार का साथ होगा। ध्यान रखना। पीली वस्तु का दान।

तुम-परक्रम रंग। रोज़ी-रोज़गार में तराकी। एक-कान-गला के दूषित हो सकता है। ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍मानें प्रेम और ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍करण कुछ नया विकास भी है। पीली वस्तु का दान।

वृश्चिक-खराब-पैसे का कुटुम्‍जनों में सम्‍पन्‍न करने के लिए इन्‍वेस्‍टमेंट न करें। बेहतर बेहतर है। प्रेम और व्‍यापार का पूरा पालन-पूरा साथ। बजरंग बली की आराधना.

धनु-एक विशेष योग का निर्माण हो रहा है। मंगल, और कुछ नया सुसर हो सकता है। बेहतर बेहतर है। प्रभातफेरी। बचपन का स्‍‍‍‍‍‍‍मिथ प्रेम का साथ होगा। बचा रह सकता है। शुभ चिह्न प्रदर्शन कर रहा है। व्‍यवसायिक प्रसंग भी समझेंगे। बजरंग बली की आराधना.

मकर-खर्च की अधिकता मनोदैहिक तुल्यकालिक। लाली-रोजगार में जटिल अनुभव होते हैं। निर्धारण भी तय किया गया है। प्रेम और व्‍यापार का साप्‍ताह। माँ काली की अराधना..

कुंभ-अर्थव्यवस्था की स्थिति सुलझाएंगे। शुभ समाचार की क्वालिटी। स्वास्थ्य और अर्थ के लिलाज से यह है लेकर संतान और प्रीम के लिलाज से अच्छता समय नहीं है। गोकू की गणेश अराधना.

मीन-आक्रमण-कचहरी में विजय। बेहतर बेहतर बेहतर होगा। रोज़ी-रोज़गार में तराकी। सरकारी तंत्र से। भोलेनाथ की अराधना.

.

Related Articles

Back to top button