Panchaang Puraan

Horoscope August 7 aaj ka rashifal : Saturn shani gochar in Capricorn Virgo Aquarius will get money know Libra Scorpio Aries day – Astrology in Hindi

ग्रह की स्थिति – राहु वृषभ राशि में। सूर्य, बुध, कर्क रेखागणित। शुक्र और मंगल सिंह राशि में हैं। केतु वृश्चिक, शनि मकर राशि में गोचर होते हैं। जीन्स गुरु और शनि उच्च गति से चलने वाले होते हैं।

राशिफल-
मीन –
भूमि, वाहन, वाहन की समस्या में है। घर में रख सकते हैं। पौधे का स्‍तर। क्रियात्मक स्थिति में है। प्रेम की स्थिति ठीक-ठाक। गुणवत्ता ठीक-ठाक. व्‍यवसायिक स्थिति में सुधार संबंधी स्थिति घर और भौतिक सुख-पदा की गो शिव की अराधना..

वृषभ – पुन: क्रमांक वाले-मित्रों के साथ मिलकर व्यवहार करते हैं। आपको भी, कान, गल का नुकसान हो सकता है। प्रेम और व्‍यापारदर्शी दृष्टिकोण से मध्‍यम समय है। गणेश जी की वंदना करें।

मिनट – ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍माध्‍व धनागमन से बचाने के लिए। प्रेम की स्थापत्य उम्मीद है। व्यापापावादी नजरिए से भी ठीक ठीक है. हरी वस्तू।

कर्क – खराब होने के मामले में यह खराब हो गया है। प्रेम आशा की स्थिति में है। धनगमन होगा। आशा पार्थिक दृष्टि से उम्मीद की जा सकती है। बजरंग बली की आराधना. गो शिव का जलभिषेक करें।

सिंह – मन व्‍यथित ज्‍वाइंट। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]प्रेम की स्थस्थति मध्यम है। सपने देखने के बाद उम्मीद की जा सकती है। सूर्यदेव को जल.

कन्या – धनगमन होगा। अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। ग़लती की जांच पर ध्यान दें। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍ काल का विवरण प्रेम की स्थिति ठीक-ठाक. हरी वस्तू। गणेश जी की वंदना करें।

तुम – व्‍यापारिक स्थिति मध्‍यम. पद के स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍यं. आपको भी सीने में विकार की आशंका है। प्रेम की स्थथति ठीक है। व्‍यापार मध्‍यम है। गणेश जी की वंदना करें।

वृश्चिक – ️ जोखिम️ जोखिम️️️️️️️️️ धर्म कर्म में भाग लेने वाले। पूजा पाठ में बेहतर बेहतर है। प्रेम मध्यम है। व्‍यापार्क दृष्टिकोण से रुका हुआ काम व्यवस्थित ढंग से हो रहा था। गणेश जी की वंदना करें।

धनु – जोखिम समय है। काम करना संभव है। किसी को नुकसान हो सकता है। प्रेम की स्थिति से बेहतर है। आप ठीक से देख सकते हैं। बजरंग बली की आराधना.

मकर – ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]रोज़ी-रोज़गार में तराकी। नई नई शुरू करें। स्‍‍‍‍थ्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍मां, प्रेम ठीक-ठाक, व्‍यापार्क व्‍यवहार से सही समय कहता है। गो शिव का जलभिषेक करें।

कुंभ – शत्रुओं पर विजय पालिसी। रुका हुआ काम ठीक से काम कर रहा था। गुढ़ ज्ञान की गड़बड़ी। व्‍यवहार्य व्‍यवहार्य व्‍यवहार्य व्‍यवहार्य रखने के लिए। गणेश जी की वंदना करें।

मीन – रोग रोग सी दु:खी अनजान भय सता। ग़लती की जाँच पर ध्यान दें। विशेष प्रकार का भावुकता में कोई भी चुनाव न लें। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍माध्‍य, व्‍‍या की पार स्थथ्‍व‍ति-करीब ठीक है। गो शिव का जलभिषेक करें।

प्रस्तुति-
अजय कुमार सिंह
गोरखपुर।

.

Related Articles

Back to top button