Education

मेंढक के हृदय में कितने कक्ष होते हैं?: मेंढक के बारे में रोचक तथ्य

mendhak ke hriday mein kitne kaksh hote hain

नमस्ते दोस्तों आज की इस आर्टिकल में हम मेंढक के हृदय में कितने कक्ष होते हैं इसके बारे में संपूर्ण जानकारी इसके साथ साथ मेंढक से जुड़े बहुत सारी जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

हृदय सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है यह जीवन रेखा के समान होता है लेकिन इस विश्व में बहुत सारी जीव अनोखी होती है जिसमें से एक मेंढक भी है मेंढक देखने में एक समान जीव दिखता है लेकिन मेंढक के बारे में अभी तक बहुत सारी रोचक तथ्य खोज हो रही है।

मेंढक के हृदय में कितने कक्ष होते हैं (Mendhak Ke Hriday Me Kitne Kaksha Hote Hain)

यह Question G.K. में अधिकतर बार पूछा जाता है की मेंढक के ह्रदय मे तीन कक्ष होते है इस Question का सही Answer है मेंढक के ह्रदय में 3 कक्ष होते है।

मेंढक के ह्रदय मे तीन कक्ष होते है जिसमे से दो कक्ष ऊपर की तरफ होते है जिसे आलिन्द (Auricles) कहते है और एक निचे की तरफ होता है जिसे निलय (Ventricles) कहते है। मेंढक का ह्रदय पतली पारदर्शी झिल्ली से घिरा होती है। उस झिल्ली को पेरीकार्डियम (Pericardium) कहते है।

मेंढक के हृदय में कितने कक्ष होते हैं

मेंढक का वैज्ञानिक नाम क्या है (mendhak ka vaigyanik naam kya hai)

यह Question G.K. में अधिकतर बार पूछा जाता है की मेंढक का वैज्ञानिक नाम क्या है

अगर आपको जानना है की मेंढक का वैज्ञानिक नाम क्या है तो सभी बता दे मेंढक का वैज्ञानिक नाम अनुरा (Anura) है।

मेंढक का वैज्ञानिक नाम क्या है अनुरा
Scientific Name Of Frog Anura

मेंढक कितने प्रकार के होते है (mendhak Kitne Prakaar Ke Hote Hai)

मेंढक पारिस्थितिक तंत्र (Ecosystem) में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। वे पारिस्थितिक तंत्र के स्वास्थ्य (Health) के बहुत अच्छे संकेतक है। उनमे से कुछ प्रजातियां स्थानिक है जबकि कुछ हर जगह सभी Place
पर मिलते है। दुनिया भर में मेंढक की 5700 से अधिक प्रजातियां की खोज हो चुकी है। भारत में अब तक मेंढक की 380 प्रजातियां दर्ज की गयी है।

मेंढक क्या खाता है?

मेंढ़क तालाब के आस पास रहता हैं. यह तालाब में उपस्थित मक्खिया, किट, मच्छर, बहुत छोटी मछलिया इत्यादि खाता हैं. मेंढ़क की अपनी शिकार की निति होती हैं. जिसमे उसकी लम्बी जीभ बहुत सहायक होती हैं. जब मेंढक अपने शिकार को देखता हैं. तो अपनी लम्बी जीभ शिकार की ओर फेकता हैं. जिससे शिकार मेंढ़क के जीभ पर उपस्थित चिकने द्रव्य के साथ चिपक जाता हैं. और मेंढ़क का भोजन बन जाता हैं.

मेंढक से जुड़ी कुछ रोचक तथ्य

  • बड़े आकार के मेंढक अपने से छोटे मेंढकों का शिकार करते हैं।
  • नर मेंढक मादा मेंढक से छोटा होता है।
  • मेंढक पानी या गीली जगहों पर अंडे दे सकते हैं, जिससे टैडपोल निकलता है।
  • इनका मुख्य भोजन कीट हैं।
  • मेंढक की कुछ प्रजातियों के सिर पर सींग पाए जाते हैं। और उनकी त्वचा खुरदरी होती है।
  • मेंढक दुनिया में 32 सेंटीमीटर तक लंबे और साढ़े तीन किलो वजन तक के पाए जाते हैं।
  • सबसे बड़े मेंढक का नाम गोलियत है।
  • सबसे जहरीले मेंढक का नाम गोल्डन डार्ट मेंढक है।
  • मेंढक अपने दांतों का उपयोग शिकारी को निगलने के लिए करता है। मेंढक के ऊपरी जबड़े में दो दांत होते हैं।
  • मेंढक की प्रजाति दुनिया में हर जगह पाई जाती है।
  • मेंढक की प्रजाति सभी रंगों में पाई जाती है।
  • एक मेंढक बिना पानी पिए जीवित रह सकता है क्योंकि यह पानी की पूरी कमी को अपनी त्वचा से उठा लेता है।
  • एक मेंढक अपने से 20 गुना लंबी छलांग लगा सकता है।

मेंढक हवा और पानी दोनों में भी सुन सकता है। कोई बाहरी कान नहीं हैं; उनके झुमके (जिन्हें टिम्पेनिक मेम्ब्रेन भी कहा जाता है) वे सीधे उजागर होते हैं या वे ऊपर एक पतली त्वचा से चिपके रहते हैं, जो उन्हें ढकती है। यह जगह आंखों के पीछे गोलाकार क्षेत्र के अनुसार खड़ी होती है, जो हमें उनके कानों की तरह लगती है।

मेंढक के कान देखकर उसके लिंग से पता लगाया जा सकता है। मेंढक के कानों को टिम्पनम कहा जाता है, जो उसकी आंखों के ठीक पीछे होते हैं। यदि टिंपेनम आंख से बड़ा है, तो वह नर मेंढक है और यदि टिंपेनम आंख से छोटा है तो वह मादा मेंढक है।

मेंढक का वैज्ञानिक नाम अनुरा (Anura) है।

Also Read:

निष्कर्ष

हमें आशा है आज का या Artical आप को पढ़कर बहुत सारी जानकारी मिली होगी इस आर्टिकल में हमने इस टॉपिक का मेंढक के हृदय में कितने कक्ष होते हैं )Mendhak Ke Hriday Me Kitne Kaksha Hote Hain), मेंढक का वैज्ञानिक नाम क्या है (mendhak ka vaigyanik naam kya hai), मेंढक कितने प्रकार के होते है (mendhak Kitne Prakaar Ke Hote Hai), मेंढक से जुड़ी कुछ रोचक तथ्य को कवर किया अगर इस आर्टिकल में आपको कोई भी Line में कोई भी सुधार करनी हो तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं हम जल्द से जल्द उसे सुधार देंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button