Panchaang Puraan

hanuman janmotsav 2022 hanuman ji ko chola chadhane ki vidhi aur samgri – Astrology in Hindi

हर साल चैत्र मास की पूर्णिमा पर हनुमान जी का जन्मतिथि है। साल हनुमान जी को पसंद है। एचमान् जी को च्लोए से व्यक्ति की सभी मनोविकृति प्रभावित होती हैं। श्री हनुमान जी जी कोलाने की संपूर्ण विधि और सामग्री की सूची-

चोलापेने की विधि…

  • सबसे पहले चोट लगने की स्थिति में।
  • हनुमान जी का गंगा जल से अभिषेक करें।
  • एक के बाद एक पवित्र कपड़े से हनुमान जी की प्रतिमा को पोछें।
  • सिंदूर और या चमेली के तेल को मिक्स करें।
  • अब हनुमान जी को चोलाएं।
  • सबसे पहले हनुमान जी के रास्ते पांव में थे।
  • हनुमान् जी को हल्‍के रहने के बाद आराम करने पर भी आराम मिलेगा।
  • हनुमान जी को जनेऊ एंथम।
  • जनेऊ ने कपड़े पहने के बाद हनुमान जी को कपड़े पहनाए।
  • चोलाने के बाद हनुमान जी को भोग-विलास।
  • हनुमान जी की आरती भी करें।
  • हनुमाना का एक से अधिक बार पाठ करें।

हनुमान जन्मगृह : 4 इन राशियों पर मेहरबाण रहें बजरंगबली, देखें क्या आप भी इस सूची में शामिल हैं

संबंधित खबरें

चोलापेने के लिए सामग्री

  • सिंदूर
  • घाव या चमेली का तेल
  • मज़बूत या सोने का वर्क
  • कपड़ा
  • जनेऊ

Related Articles

Back to top button