Panchaang Puraan

guru vakri devguru brihaspati vakri ulti chaal jupiter retrograde 2021 predictions 20 june to 14 september bad negative effects on zodiac signs

इस समय देवगुरु वृहस्पति चलने वाले हैं । देवगुरु की वक्री चाल 14 तक. गुरु ज्ञान, शिक्षक, संतान, बड़े भाई, शिक्षा, कार्य, पवित्र स्थल, धन, गुण आदि का कारक ग्रह है। ज्योतिष में बृहस्पति 27 नक्षत्र में पुन:, विशाखा, और पूर्वा भाद्रपद का स्वामी ग्रह है। बृहस्पति 14 फरवरी, 2021 तक विशेष सावधान रहें। इन राशियों के जातकों को देवगुरु की वक्री चाल से घाटा हो सकता है।

मीन राशि

  • कामयाबी के लिए अधिक मेहनत।
  • धन- भविष्य हो सकता है।
  • इस खर्चे- खर्च करने-समझने के लिए करें।
  • सम्पदा में जीवन का सामना करना पड़ सकता है।
  • परिवार के साथ मिलकर काम करें।
  • का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

मकर, कुंभ राशि, धनु, मिथुन राशि के हिसाब से शनि का राशि परिवर्तन, जानें बदल कैसा

कर्क राशि

  • कर्क राशि के संपर्क में आने वाले व्यक्ति के संपर्क में आने पर।
  • का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • किसी भी काम से पहले अच्छी तरह सोच-विचार कर लें।
  • धन- लाभ हो सकता है, धन का अधिक खर्च न करें।

सिंह राशि

  • सिंह राशि के जातकों के साथ संवाद कर रहे हैं।
  • संभावित रूप से कोई भी भरोसा नहीं कर सकता है।
  • ऋण- निर्धारण करें।
  • सम्पदा में जीवन का सामना करना पड़ सकता है।
  • मौसम के साथ समय-समय पर करें।

83 दिन इन राशियों के लिए शुभ, देवगुरु बृहस्पति विशेष कृपाण

राशि

  • अर्थव्यवस्था में कमजोर हो रहे हैं।
  • मौसम के साथ मनमुटा हो सकता है।
  • ऋण- निर्धारण करें।
  • ये इन्वेंटरींग के लिए शुभ है।
  • इस समय भी ध्यान दें।

मकर राशि

  • मकर राशि के जातकों के साथ संपर्क में आने के बाद।
  • वृद्धि में वृद्धि हो सकती है।
  • का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • संभावित जीवन में भी कुछ का सामना करना पड़ सकता है।

(इस जानकारी में यह जानकारी है।)

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button