Panchaang Puraan

Guru Vakri 2022: After Shani dev now the guru will be retrograde these zodiac signs will only benefit – Astrology in Hindi

गुरु वक्री 2022: जून में शनिदेव के वक्री होने के बाद अब गुरु भी वक्री हों। गुरु नवंबर में। 13 अप्रैल को गुरु ने अपनी खुद की पहचान की राशि मीन में गोचर कर रहे हैं। अब पूरी तरह से इसी तरह की घटना में। फिर बाद में 29 जुलाई 2022 को मीन राशि में वक्र होगा। मौसम के मौसम में 24 नवंबर को ब्रेक लागू होता है। धन, प्रबलता, आदि के कारक के प्रभाव पर प्रभाव प्रभाव पर प्रभाव पड़ता है

गुरु के वक्री होने से वृषभ राशि, मिथुन राशि और कर्क राशि के धन के मामलों में जीत होगी। मिथुन राशि के वक्री होने से राशि के व्यक्ति के व्यक्ति आनंददायक होते हैं। इस प्रकार इस राशि को ध्यान केंद्रित करने वाला है।

इस शोध में पूरी जानकारी है। क्षेत्र से संबंधित क्षेत्र के जानकारों…

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button