Panchaang Puraan

guru gochar rashi parivartan jupiter transit new year 2022 horoscope rashifal predictions naye saal ka rashifal – Astrology in Hindi

भूमि से लेकर मानव तक, कीट-पतंगों से लेकर विशालकाय जानवरों तक, सभी की एक कुंडली होती है। इस धरती पर जब भी अधर्म का विस्तार और धर्म की हानि ज्यादा हुई है, तब प्रभु ने प्रकृति के माध्यम से सजग रहने का संदेश दिया है। सरलता का संदेश दिया है। करुणामय होने, प्रेममय होने और हानि का संदेश।

आधुनिकता के प्रबंधन में यह भी शामिल है। 21 नवंबर, 2021 को देवगुरु वृहस्पति ने शनि को मकर राशि में प्रवेश किया है। अब वैस्पति 14 अप्रैल 2022 तक कुंभ राशि में विचित्र, जो शनिदेव की राशि है। शनि मकर राशि में जमा राशि और वृहस्पति देव कुंभ (शनिदेव की राशि) में जमा राशि को समर्पित है। यह निश्चित रूप से बेहतर है।

1 गिनने वाले इन जोड़े के साथ जीवित रहने के लिए, 365 लंबे समय तक चलने वाले के साथ

भारत में बृहस्पति ग्रह आने वाले परिवर्तन परिवर्तन। जैसे कि दुनिया से माफ करना माफियाओं पर सख्त कानून बन जाएगा, वैध होगा और छूट के साथ माफिया और गलत पर लागू होगा। आम आदमी के लिए, डॉक्टर प्रशासक निष्क्रिय होते हैं। खेल में सर्वश्रेष्ठ खेल। प्रबंधन में सुधार के लिए. साल 2022 में मीडिया जगत से नया प्रकाश होगा। उद्यम से लाभ होगा। व्यापार करने के लिए.

आने वाले 9 इस तरह के चिन्हों का भविष्य निश्चित होगा, देखें क्या आप भी इस सूची में शामिल हैं

अगर देवगुरु वृहस्पति के गोचर परिवर्तन करने वाले व्यक्ति के गुणन प्रभाव की बात करते हैं, तो यह मीन के, मिथुन, सिंह और राशि के खिलाड़ी के लिए अच्छा है। देवगुरु वृहस्पति मकर राशि के जातकों के लिए यह समय ठीक है। चक्रवृष, कर्क, कन्या, वृश्चिक, धनु, कुंभ राशि और मीन्स के लिए यह समय सही है।

.

Related Articles

Back to top button